Faridabad/Alive News : नहर पार के किसानो ने की मुख्य मन्त्री से मुलाकात नहर पार ग्रेटर सैक्टर 75 -80 की पांच गावो की अधिग्रहित जमीन को लेकर नहर पार के किसानो के एक प्रतिनिधि मण्डल ने मुख्य मन्त्री मनोहर लाल खट्टर से हरियाणा भवन दिल्ली में मुलाकात की और उन्हे बताया कि कॉग्रेस शासन काल में इन दो सैक्टरो के लिए लगभग साढे छ सौ एकड़ जमीन का अधिग्रहण मात्र 16 लाख रूपये प्रति एकड़ के हिसाब से किया गया था।

इस जबरदस्ती अधिग्रहण को लेकर नहर पार के किसान अपनी जमीन को अधिग्रहण से मुक्त कराने के लिए 8-9 वर्षो से संघर्ष कर रहे है। किसानो ने मुख्य मन्त्री के समक्ष मांग रखी कि वो अपनी जमीन के बदले अगर कही ओर जमीन सरकार देती हैं।

तो उसे लेने के लिए तैयार और अगर सरकार उन्हे सी$एल$यू$ दे तो किसान सरकारी फीस भरने के लिए भी तैयार है। या फिर उनकी अधिग्रहित जमीन को अधिग्रहण से मुक्त किया जाए। इस मौके पर नहर पार ग्रैटर फरीदाबाद किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष शिवदत्त वशिष्ठ एडवोकेट ने कहा कि नहर पार के किसानो ने अभी तक ना तो अपनी जमीन का मुआवजा उठाया है।

और ना ही अपनी जमीन पर सरकार को कब्जा दिया है। मुख्य मन्त्री ने किसानो को आश्वासन दिया है कि वो हुड्डा कार्यालय से स्टेटस रिकार्ड मंगवाएगे और सात दिन बाद किसानो को दोबारा सम्पर्क करेगें। इस मौके पर किसान मनोज यादव, ब्रहम दत्त वशिष्ठ, जय प्रकार भाटी हर्ष कुमार राम कुमार, नरेन्द्र पवन नरेश आदि किसान मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here