उत्तर प्रदेश : बसपा के एक कार्यकर्ता ने अपने फेसबुक पेज पर मायावती को देवी काली के रूप में दिखाया है। फोटो में मायावती को स्मृति ईरानी का सिर लिए दिखाया गया है। साथ ही नरेंद्र मोदी को भगवान शिव के रूप में दर्शाते हुए मायावती को उनकी छाती पर पांव रखे दिखाया गया है। फोटो को लेकर मचे बवाल के बाद बसपा कार्यकर्ता ने इसे फेसबुक से डिलीट कर दिया।

फोटो पोस्‍ट करने वाले बसपा कार्यकर्ता का नाम बालमुकुंद धुरिया है। उसे उत्‍तर प्रदेश बसपा अध्‍यक्ष रामअचल राजभर का करीबी बताया जा रहा है। इस तस्‍वीर के साथ धुरिया ने एक स्‍टेटस भी लिखा- ‘भाजपाइयों होशियार, नहीं चलेगा झूठ, बेईमानी का व्‍यापार, बहन जी हैं तैयार, अबकी बार बसपा सरकार।’ कार्टून को लेकर विवाद होने के बाद रामअचल राजभर ने बालमुकुंद से संबंध होने से इनकार किया है।

smriti-irani-mayawati

बसपा ने भी इस कार्टून से पल्‍ला झाड़ लिया है। विवाद बढ़ता देख अपनी फेसबुक वॉल पर इस तस्‍वीर को पोस्‍ट करने वाले बालमुकुंद धुरिया ने बाद में इसे हटा लिया। साथ ही धुरिया ने अपने एक और स्‍टेटस में कहा कि वह किसी की भावनाओं को आहत नहीं करना चाहते थे। वहीं इस मामले में उत्‍तर प्रदेश भाजपा अध्‍यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने कहा, ‘जो लोग तर्कपूर्ण विरोध नहीं कर सकते, वह ऐसे ही काम करते हैं।

मायावती को काली मां के रूप में दिखाने वाले लोगों से गुजारिश करूंगा कि उन्हें काली के रूप में तो दिखा दिया है, अब वह काली की पूजा भी करना शुरू करें।’ बता दें कि पिछले दिनों बसपा सुप्रीमो मायावती और मानव संसाधन मंत्री स्‍मृति ईरानी के बीच रोहित वेमुला की आत्‍महत्‍या को लेकर राज्‍य सभा में बहस हुई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here