मैं वो रावण हूं जिसका बजता है तीनों लोकों में डंका…

0
20

18 Oct.photo-1

फरीदाबाद : श्री धार्मिक रामलीला कमेटी एनआईटी-5 नम्बर एम ब्लाक में आज मंच पर सीता हरण दिखाया गया। आज के सीन की आधुनिकता यह थी कि पंचवटी को जगल का रूप देने के लिये असली खरगोश और कबूतर पंचवटी में टहलते दिखाये गये। सुरूपनखा के रोल में मोहित ने ऊंची-ऊंची दुनिया की दिवारें सईयां तोडक़े गाना गाकर नृत्य पेश किया और अपनी मनमोहक अदाओं से दर्शकों का मनोरजंन किया।

राम के रोल में पंकज खरबंदा ने सीता हरण के बाद अपने विलाप अभिनय से दर्शकों को रोने पर मजबूर कर दिया उन्होने आज विलाप के दृश्य में अपने आप को पूरी तरह डाला जिस वजह से सीन में जान आ गई और जब लक्ष्मन बने दीपक नागपाल राम को ढांसा बांध रहे थे तो दर्शक विचलित से हुए जा रहे थे।

बाल कलाकारो ने बिखेरा अपनी कला का जादू
आज बाल कलाकारों ने मंच पर सीता हरण का दृश्य पेश किया जिसमें सुरूपनखा बनी चेतन्या बत्तरा ने अपने बाल पन से दर्शकों के दिलों को जीता तो राम बने आर्कषण नागपाल तथा लक्ष्मन बने विधांष खरबंदा ने अपने रोल में जान डाली लेकिन आज बाल कलाकारों में सीता बनी रीया खरबंदा ने अपने अभिनय से न केवल दर्शकों की तालीयां लूटी बल्कि अपने संवादों से सीता के रोल के जीवित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here