Hisar/Alive News : नये सेशन से सरकारी, एडिड या सेल्फ फाइनेंस कॉलेज निर्धारित सीटों से अधिक दाखिले नहीं कर पाएंगे। अगर किसी कॉलेज ने निर्धारित सीटों से अधिक दाखिले किए तो कॉलेजों पर विवि की तरफ से प्रति सीट के हिसाब से जुर्माना लगाया जाएगा।

अधिकतम 10 लाख तक जुर्माना लगाया जा सकता है
– जीजेयू ने इस बारे में जिले के कॉलेजों को आदेश जारी किए हैं कि अगर तय सीटों से अधिक एक स्टूडेंट्स को दाखिला दिया है तो यूनिवर्सिटी हर स्टूडेंट्स के हिसाब से 1 लाख रुपए जुर्माना लगाएगा। वहीं प्रति कोर्स के हिसाब से अधिकतम 10 लाख तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।

– इसके लिए कॉलेज प्रिंसिपल की जिम्मेवारी होगी। जीजेयू के वीसी प्रो. टंकेश्वर कुमार ने बताया कि सभी कॉलेजों को निर्धारित सीटों की जानकारी विवि को उपलब्ध करवानी होगी। कॉलेजों को गलत एडमिशन करने पर बख्शा नहीं जाएगा।

कॉलेजों में इंफ्रास्ट्रक्चर से निर्धारित होती हैं सीटें
– कॉलेजों में इंफ्रास्ट्रक्चर के अनुसार विश्वविद्यालयों ने सीटें निर्धारित की हैं। इसके अनुसार कॉलेजों को एडमिशन प्रोसेस के बाद दाखिला लेने वाले स्टूडेंट्स की जानकारी विवि को भेजनी होती है।

– इसमें स्टूडेंट्स के रजिस्ट्रेशन नंबर की भी जानकारी देनी होती है। यूनिवर्सिटीज की ओर से समय-समय पर कॉलेजों का दौरा कर उनके इंफ्रास्ट्रक्चर का जायजा भी लिया जाता है।

कॉलेज कमेटियां करेंगी एडमिशन
-एडमिशन के लिए सभी कॉलेजों में एडमिशन कमेटी बनाई जाएगी। जिसमें कॉलेज के टीचर्स में महिला टीचर का होना भी अनिवार्य है, वहीं एसएससी-एसटी टीचर्स का भी कमेटी में होना जरूरी है। कमेटी के अध्यक्ष प्रिंसिपल होगी।

आज से कर पाएंगे एडमिशन के लिए अप्लाई
– जिले सहित प्रदेश के सभी सरकारी, गैर सरकारी व सेल्फ फाइनेंस कॉलेजों में 6 जून से एडमिशन प्रोसेस शुरू हो जाएगी। स्टूडेंट्स दाखिले के लिए हायर एजुकेशन के पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन कर पाएंगे।

– गौरतलब है कि जिले में 22 डिग्री कॉलेज में करीब 11556 सीटें हैं। जिनके लिए 15 हजार के करीब दावेदार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here