Faridabad/Alive News : दिव्यांग व्यक्ति भी एक आम व्यक्ति की भाति समाज में सर उंचा कर अपना जीवन बीता सकता है। वह भी सक्षम बन देश के विकास में अपना सहयोग दे सकता है। ये उदाहरण आज सिविल सर्जन बी.के. राजौर ने उपायुक्त एवं अध्यक्ष अतुल कुमार के दिशा निर्देशन मे जिला रैडक्रास सोसायटी फरीदाबाद द्वारा समाजिक न्याय एवं अधिकारिता मत्रंलय भारत सरकार के सहयोग से दिव्यांगजनों को उनकी जरुरतों के अनुसार उपकरण देने के उददेश्य से बी.के. अस्पताल में लगाये गये जाचं माप शिविर का उद्घाटन करते हुये मुख्यातिथि के रुप में कहें।

रैडक्रास द्वारा लगाये गये इस जाचं माप शिविर मे कुल 136 दिव्यांग जनों ने अपनी जाचं करायी जिसमें से 107 दिव्यांगजनों को कृत्रिम अंग एवं सहायक उपकरण हेतु चुना गया। इसके अतिरिक्त षिविर में उपस्थित समाज कल्याण विभाग की टीम द्वारा 12 दिव्यांगजनों को पैंशन देने हेतु चुना एवं 17 दिव्यांगजनों को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के अन्तर्गत प्रशिक्षण देने हेतु चुना गया।

इस अवसर पर रैडक्रास सोसायटी के सचिव बी.बी. कथूरिया, समाज कल्याण अधिकारी सुशीला देवी के अतिरिक्त डा रवि शंकर गौड, समाज सेवी आर पी हंस, हरियाणा रैडक्रास कार्यकारिणी सदस्या सुशमा गुप्ता, रैडक्रास पुनर्वास केन्द्र प्रभारी जय पाल सिहं, डा. राकेश कुमार, मुकेष कुमार, ज्ञान प्रषाद, भगवान सिहं, बेबी सिहं, हितेष कुमार भी मुख्य रुप से उपस्थित थे।

सचिव रैडक्रास ने बताया कि इस जाचं माप शिविर मे जिन दिव्यांगजनों का चयन किया जायेगा उन दिव्यांगजनों को उनकी जरुरतों के अनुसार उपकरण एवं सुविधाये रैडक्रास द्वारा लगाये जाने वाल महा षिविर मे प्रदान की जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here