21 अप्रैल को लगेगा शिक्षा विभाग के सेवानिवृत्त पेंशन आवेदन संशोधन को लेकर दरबार

0
13
Gurugram/Alive News : जिला में शिक्षा विभाग के सन् 2016 से पहले सेवानिवृत हुए सभी अधिकारियों, अध्यापकों, जुनियर लैक्चर्र, कर्मचारियों की पेंशन संशोधन के लिए आवेदन आॅनलाईन भेजने के लिए राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय (बाल) में रविवार 21 अप्रैल को दरबार लगाया जाएगा जिसमें स्वयं जिला शिक्षा अधिकारी दिनेश शास्त्री अपनी टीम के साथ मौजूद रहेंगे।
शास्त्री ने बताया कि सन् 2016 से पहले सेवानिवृत हुए शिक्षा विभाग के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों, जुनियर लैक्चर्र, अध्यापकों आदि की पेंशन रिवाईज की जा रही है। इसके लिए पहले आवेदन मानवीय तौर पर महालेखाकार हरियाणा चण्डीगढ़ के कार्यालय में भेजे गए। उसके बाद अब बचे हुए कर्मचारियों व अधिकारियों के आवेदन महालेखाकार हरियाणा चण्डीगढ़ को आॅनलाईन ई-मेल के माध्यम से भेजे जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि जिला में शिक्षा विभाग के ऐसे 800 से ज्यादा कर्मचारियों व अधिकारियों के आवेदन अब तक ब्लाॅक स्तर पर दरबार लगाकर भेजे जा चुके हैं।
फिर भी यदि कोई कर्मचारी या अधिकारी या अध्यापक रह गया हो जो सन् 2016 से पहले सेवानिवृत हुआ हो और उसका केस पेंशन रिवाईज करने के लिए महालेखाकार हरियाणा चण्डीगढ़ को अभी तक नहीं भेजा गया है तो वे रविवार 21 अप्रैल को प्रातः 11 बजे गुरूग्राम के नागरिक अस्पताल के साथ स्थित लड़कों के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में पहुंचे। शास्त्री ने कहा कि रविवार को ऐसे छूटे हुए कर्मचारियों-अधिकारियों के लिए दरबार लगाया जा रहा है जिसमें वे स्वयं टीम के साथ उपस्थित रहेंगे। उन्होंने कहा कि पेंशन रिवाईज करने का आवेदन आॅनलाईन भेजने के लिए व्यक्ति को अपने साथ पेंशन पत्र (पीपीओ) तथा बैंक पासबुक की फोटो प्रति साथ लानी अनिवार्य है।
जिला शिक्षा अधिकारी  दिनेश शास्त्री ने कहा कि शिक्षा विभाग के कर्मचारियों व अधिकारियों को अपना पेंशन रिवाईज केस भेजने का यह सुनहरा अवसर दिया जा रहा है, इसलिए 2016 से पहले सेवानिवृत हुए शिक्षा विभाग के जिला गुरूग्राम के कर्मचारी व अधिकारी, अध्यापक, जुनियर लैक्चर्र आदि, जिनके पेंशन रिवाईज करने के केस अभी तक नहीं भेजे गए हैं, वे इस अवसर का लाभ उठाएं। शास्त्री 30 अपै्रल को सेवानिवृत हो रहे हैं इसलिए वे चाहते हैं कि शिक्षा विभाग का कोई भी कर्मचारी पेंशन रिवाईज केस भेजने से वंचित ना रहे।
Print Friendly, PDF & Email

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here