New Delhi/Alive News : सेंसर बोर्ड से हरी झंडी मिलने के बाद भी 4 राज्यों में ‘पद्मावत’ को अपने यहां रिलीज नहीं करने की बात कही है। इसको लेकर बुधवार को फिल्म के प्रोड्यूसर्स ने सुप्रीम कोर्ट में पिटीशन दायर किया। ‘पद्मावत’ 25 जनवरी को रिलीज होनी है। सेंसर बोर्ड ने बिना कट लगाए फिल्म को रिलीज करने की बात कही थी।

कोर्ट जाने की क्या है वजह?
– पद्मावत के निर्माता Viacom 18 ने सुप्रीम कोर्ट में पिटीशन दाखिल किया है। इस याचिका में कुछ राज्यों में फिल्म की स्क्रीनिंग को रोकने के खिलाफ अपील की गई है।

इन राज्यों में हो चुकी है बैन
-सेंसर बोर्ड से कट लगने और फिल्म का नाम ‘पद्मावती’ से ‘पद्मावत’ होने के बाद भी एक के बाद एक कई राज्यों ने इस फिल्म को अपने राज्यों में रिलीज करने से मना कर दिया है।

– गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा की सरकारें ये साफ कर चुकी हैं कि वे अपने अपने राज्यों में इस फिल्म को रिलीज नहीं करने देंगी। इन सभी जगहों पर बीजेपी की सरकार है।

गोवा और यूपी अभी स्पष्ट नहीं

– फिल्म को रिलीज करने को लेकर इन राज्यों के अलावा गोवा और उप्र में भी स्थिति साफ नहीं है। गोवा की सरकार फिल्म को रिलीज करना चाहती है, लेकिन वहां की पुलिस कानून-व्यवस्था का मुददा उठाते हुए फिल्म को नहीं दिखाने की बात कह रही है।

– वहीं, उप्र में सेंसर से प्रमाण पत्र मिलने से पहले सरकार इस फिल्म को दिखाने से मना कर चुकी है। प्रमाण पत्र मिलने और फिल्म सेंसर बोर्ड से कट लगने और फिल्म का नाम पद्मावती से पद्मावत होने के बाद भी एक के बाद एक कई राज्यों ने इस फिल्म का अपने राज्यों में रिलीज करने से मना कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here