फेस रिकग्निशन के तहत आपके चेहरे से वेरीफाई होगा आधार कार्ड

0
33

New Delhi/Alive News : यूनिक आईडेंटीफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी UIDAI ने आधार वेरिफाई करने के लिए फेस रिकग्निशन सर्विस शुरू करने की तारीख को आगे के लिए टाल दिया है। अब इस सर्विस की शुरुआत 1 अगस्त से की जाएगी। जा रही थी। UIDAI के सीईओ अजय भूषण पांडे ने बताया कि फेस रिकग्निशन सर्विस को 1 अगस्त से शुरू करने की तैयारी पूरी हो चुकी है। लेकिन सर्विस शुरू करने के लिए कुछ समय की जरुरत है। इसलिए तारीख को आगे बढ़ा दिया गया है।

इस सर्विस से क्या होगा फायदा?

इस सर्विस का सबसे बड़ा फायदा उन यूजर्स को होगा जिनका आईरिस या फिंगरप्रिंट मैच नहीं हो पाता है। इनमें ज्यादा बुजुर्ग यूजर्स शामिल हैं। हालांकि, यह सुविधा हर यूजर को नहीं मिल पाएगी। ऐसा इसलिए क्योंकि यह सुविधा केवल उन्हीं लोगों के लिए शुरू की जा रही है जिनके पास फोन नहीं है यानी ओटीपी आने का कोई साधन नहीं है या वो वृद्ध है या फिर उनके फिंगरप्रिंट और आईरिस मैच नहीं होती है।

अजय भूषण का कहना है कि इस फीचर को 1 अगस्त से शुरू किए जाने की पूरी कोशिश की जा रही है। इस तारीख को आगे इसलिए बढ़ाया गया है कि ताकी इससे और बेहतर तरीके से डेवलप किया जाए। इस सर्विस को शुरू करने के बाद यह देखा जाएगा कि क्या इस सर्विस में किसी तरह की सुधार की गुंजाइश है या नहीं। यह सर्विस वृद्ध यूजर्स से के लिए मददगार साबित होगी। 1 अगस्त से यह सर्विस यूजर एजेंसी पर उपलब्ध करा दी जाएगी।

आंकड़ों पर गौर किया जाए तो मई 2018 तक भारत में 1.21 बिलियन यानी करीब 121 करोड़ लोगों के पास आधार कार्ड है। आपको बता दें कि आज के समय में आधार कार्ड हर व्यक्ति और लगभग हर सर्विस के लिए बेहतर महत्वपूर्ण है।

Print Friendly, PDF & Email

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here