Faridabad/Alive News : शिक्षकों के दिशा-निर्देशन के लिए अलाइव न्यूज़ द्वारा चलाई जा रही मुहीम ” अध्यापक और अध्यापन” के अंतर्गत इस शनिवार को सेक्टर-23 संजय कॉलोनी स्थित ए.पी. सीनियर सेकेंडरी स्कूल में देश के जाने-माने शिक्षाविद डॉक्टर एम. पी. सिंह द्वारा विद्यालय के शिक्षकों को शिक्षक की भूमिका व  उसकी जिम्मेदारियों का पाठ पढ़ाने के लिए कार्यशाला का आयोजन किया गया । इस अवसर पर अलाइव न्यूज़ के संपादक तिलक राज शर्मा भी उपस्थित रहे। कार्यक्रम की शुरूआत शिक्षाविद डॉक्टर एम. पी. सिंह, संपादक तिलक राज शर्मा व स्कूल के चैयरमेन जे. पी. अग्रवाल द्वारा विधिवत रूप से हुई।

अलाइव न्यूज़ संपादक तिलक राज शर्मा ने सभी अध्यापकों को संबोधित करते हुए कहा कि गुरु का स्थान इस संसार में सर्वोच्च माना गया है। इसलिए  गुरु को समाज में अपने महत्त्व को समझते हुए अपने शिष्य को सही मार्ग दिखाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अलाइव न्यूज़ द्वारा इस मुहीम का संचालन काफी समय से किया जा रहा है। वर्तमान में स्कूल व कॉलेज में छात्रों के प्रति आपराधिक मामलो में इजाफा हुआ है जिसका एक मुख्य कारण अध्यापको की अज्ञानता व उनके द्वारा जिम्मेदारी को न समझना है जिसके कारण स्कूल और अध्यापको पर अभिभावकों का विश्वास काम हो गया है। अलाइव न्यूज़ द्वारा चलाई जा रही मुहीम का मुख्य उद्देश्य अध्यापकों को उनकी जिम्मेदारियों का बोध करना है ताकि भविष्य आपराधिक घटनाओ को काम किया जा सके।

 शिक्षाविद डॉक्टर एम पी सिंह ने अपने उद्बोधन में कहा कि अध्यापक अपने सम्मान का व अपमान का स्वयं हकदार है। उसके अच्छे कार्यों के लिए सम्मान तथा गलत फैसलों के लिए अपमान मिलना स्वाभाविक है। समाज में अध्यापक की मर्यादा निर्धारित होती है, क्योंकि विद्यार्थी अध्यापक से ही गुण व अवगुण सीखता है। कब बोलना है, कितना बोलना है, कैसा बोलना है, कहां खड़ा होना है, कहां नहीं खड़ा होना, किसके साथ खाना खाना है, किसके साथ नहीं खाना है, कैसे वस्त्र पहनने हैं यह सब अध्यापक की गुणवत्ता व चरित्र को बताते हैं। अध्यापक की गुणवत्ता ही विद्यालय का आधार स्तम्भ होता है। विद्यालय में पढ़ने वाले विद्यार्थियों की संख्या में वृद्धि होना अथवा गिरावट आना भी अध्यापक के गुणों पर ही निर्भर करता है। सही मायने में एक आदर्श अध्यापक का सभी सम्मान करते हैं। अध्यापन क्षेत्र में दुर्व्यसन, दुराचार, व्याधिचार, अनाचार, झूठ, चोरी, छल-कपट आदि नहीं चलता है। अच्छा अध्यापक देशभक्त व राष्ट्रप्रेमी तैयार करता है। सद्गुणों से युक्त जिम्मेदार गुरु एक अच्छा राजनेता, अच्छा अधिकारी, अच्छा कर्मचारी व अच्छा समाजसेवी बनाता है।

डॉक्टर एम. पी. सिंह ने वर्तमान की शिक्षा प्रणाली पर चिंता प्रकट करते हुए कहा कि आज के युवा बिना मेहनत किये ही सब कुछ हासिल करना चाहते है और इसलिए ही वे  शॉर्टकट का रास्ता अपनाकर न सिर्फ अपना जीवन ख़राब कर लेते है बल्कि परिवार और समाज को भी शर्मिंदा करते है, जो कि देश हित में नहीं है। समयानुसार सही तरीके से प्राप्त किया गया ज्ञान जनहित तथा राष्ट्रहित में होता है।

डॉक्टर एम पी सिंह ने अध्यापको के माध्यम से अपील करते हुए कहा कि कॉलेज और विश्वविद्यालय में  बिना कक्षाएं लिए डिग्री हासिल करने वाले लोग अध्यापन कार्य में ना जाएं अधूरा ज्ञान किसी की जिंदगी को बर्बाद कर सकता है। विद्यालयों में पढ़ रहे विद्यार्थी कोरे कागज के समान होते हैं जैसा हम उस पर लिखते हैं वैसा ही लिख जाता है।

इस अवसर पर स्कूल चैयरमेन जे. पी. अग्रवाल ने सभी को सम्बोधित करते हुए कहा कि राष्ट्र को शत-शत समृद्धिशाली व मजबूत बनाने के लिए डॉक्टर एम पी सिंह के निहित गुणों को अपनाना होगा और उन्हीं की तरह आदर्श अध्यापक बनना होगा। डॉक्टर एम पी सिंह अनेकों विद्यालय व महाविद्यालय में प्रोफ़ेसर रह चुके हैं। वहीं, उन्होंने यह भी कहा कि अलाइव न्यूज़ द्वारा चलाई जा रही मुहिम समाज व राष्ट्रहित में है। अलाइव न्यूज़ की इस मुहीम को सफल बनाने के लिए हम सभी को एकजुट होकर अपना साथ व सहयोग देना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here