बड़खल-87 : भाजपा के पंजाबी कार्ड को कैसे ब्लॉक कर सकती है वेणुका खुल्लर, जानिए

0
520

Tilak Raj Sharma/Alive News
Faridabad: बड़खल विधानसभा में भाजपा प्रत्याशी पंजाबी कार्ड खेलकर चुनाव जीतना चाहती है। एक तरफ भाजपा अपने आप को 36 बिरादरी की पार्टी बताकर 2014 में सत्तासीन हो चुके है। और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खुद कह चुके है वह अकेले पंजाबी बिरादरी के मुख्यमंत्री नहीं है बल्कि वह 36 बिरादरी के मुख्यमंत्री हैं। यह बात कितनी सत्य है इसका निर्णय बड़खल विधानसभा की जनता उस समय कर चुकी है जब भाजपा प्रत्याशी ने मुख्यमंत्री की बुधवार को रैली में पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं पंजाबियों के इमाम ए.सी चौधरी को पार्टी में शामिल किया था।

आपको बता दे कि ए.सी चौधरी वह दलबदलू नेता है जो 40 साल में उस पार्टी के सगे नहीं हुए जिसने उन्हें तीन बार कैबिनेट में मंत्री बनाया और फिर वह टिकट न मिलने के कारण पार्टी छोड़कर इंडियन नेशनल लोकदल पर के मंच पर चढ़ गए। जब उनकी राजनीति महत्वकांक्षा इनेलो में पूरी होती नहीं दिखी तो उन्होंने फिर से अशोक तंवर के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी का दामन थाम लिया था और इनेलो में जाने के कदम को उन्होंने मानसिक संतुलन बिगड़ना बताया था। भाजपा प्रत्याशी सीमा त्रिखा के समर्थन में ए.सी चौधरी मुख्यमंत्री की बुधवार रैली में भाजपा में शामिल हो गए। पंजाबियों के इमाम माने जाने वाले चौधरी पंजाबियों के नाम पर तीन बार कैबिनेट मंत्री रह चुके है। कांग्रेस से पंजाबियों के नाम पर कई बार टिकट ले चुके है।

पाठकों को बता दे कि चौधरी साहब पंजाबियों की दुहाई देते नहीं थक रहे है लेकिन पिछली कांग्रेस हुड्डा सरकार में कैबिनेट मंत्री रहते चौधरी साहब ने एक पंजाबी पार्षद अशोक अरोड़ा को मेयर बनने से रोकने की कोशिश की थी जिस समय कैबिनेट मंत्री चौधरी महेंद्र प्रताप भी थे। उस समय महेंद्र प्रताप अशोक अरोड़ा को मेयर बनाना चाहते थे और उन्हें रोकने के लिए एसी चौधरी अपने एक पार्षद नरेश गोसाईं को साथ लेकर अपने घर बैठ गए थे। ऐसे पंजाबी नेता को पंजाबी कार्ड के रूप में भाजपा प्रत्याशी सीमा त्रिखा इस्तेमाल करना चाहती है। जो पंजाबियों के लिए कम और खुद के लिए ज्यादा सोचते है।

हालांकि कांग्रेस प्रत्याशी विजय प्रताप ने भाजपा के पंजाबी कार्ड को फेल करने के लिए अपनी पत्नी वेणुका खुल्लर को जनसम्पर्क के लिए न्यू टाउन में उतारा हुआ है। वेणुका खुल्लर टाउन के एक, दो, तीन और पांच नंबर में अपनी पंजाबी बिरादरी को साधने में लगी हुई है। क्योंकि भाजपा प्रत्याशी सीमा त्रिखा पंजाबी कार्ड खेलकर समर्थन जुटा रही है। दूसरी ओर वेणुका खुल्लर के मायके के बड़े परिवार कारण भाजपा का बड़खल सीट पर पंजाबी कार्ड फेल होता नजर आ रहा है।

Print Friendly, PDF & Email