बिग डाटा व टेक्स्ट माइनिंग पर फैकल्टी डेवलेपमेंट कार्यक्रम आज संपन्न हुआ

0
8

Faridabad/Alive News : वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद के कम्प्यूटर इंजीनियरिंग विभाग द्वारा एसपीएसएस साउथ एशिया प्राइवेट लिमिटेड के संयुक्त तत्वावधान में ‘बिग डाटा एनालिसिस तथा डाटा व टैक्स्ट माइनिंग’ विषय पर आयोजित फैकल्टी डेवलेपमेंट कार्यक्रम (एफडीपी) आज संपन्न हो गया।

कार्यक्रम में प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थानों के 40 से ज्यादा फैकल्टी सदस्यों तथा शोधार्थियों ने हिस्सा लिया। एक सप्ताह तक चले इस कार्यक्रम को आईआईटी, दिल्ली विश्वविद्यालय, थापर विश्वविद्यालय तथा उद्योग जगत के विशेषज्ञों ने संबोधित किया तथा प्रतिभागियों के प्रश्नों के उत्तर दिया। इस अवसर पर कुल सचिव डॉ एस.के. शर्मा, संकायाध्यक्ष प्रो. अरविंद गुप्ता व प्रो. नरेश चौहान भी उपस्थित थे।

कुलपति प्रो. दिनेश कुमार समापन समारोह में मुख्य अतिथि रहे तथा प्रतिभागियों को प्रतिभागिता प्रमाण पत्र प्रदान किये। उन्होंने कहा कि ऐसे कार्यक्रम संकाय सदस्यों के कार्य कौशलता को बढ़ाते है, जिससे विद्यार्थी भी लाभान्वित होते है। उन्होंने कहा कि कंप्यूटर इंजीनियरिंग से संबंध रखने वाले संकाय सदस्यों तथा विद्यार्थियों के लिए बेहद जरूरी है कि वे बिग डाटा एनालिसिस के अनुप्रयोग एवं सॉफ्टवेयर की नवीनतम जानकारी हासिल करें जो आज प्रत्येक क्षेत्र के लिए उपयोगी है।

कार्यक्रम को संकायाध्यक्ष एवं विभागाध्यक्ष कम्प्यूटर इंजीनियरिंग प्रो. सी. के. नागपाल ने भी संबोधित किया तथा बिग डाटा विश्लेषण को अनुसंधान के क्षेत्र में अहम बताया। उन्होंने छह दिवसीय कार्यक्रम की कार्यवाही भी प्रस्तुत की। कार्यक्रम की संयोजक डॉ. नीलम दूहन ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा। डॉ दूहन ने बताया कि यह कार्यक्रम टेक्स्ट माइनिंग, बिग डाटा तथा मैप वेल्यू जैसे क्षेत्रों में नवीनतम अनुसंधानों पर केन्द्रीय रहा, जिसमें अलग-अलग क्षेत्रों के विशेषज्ञों ने विभिन्न विषयों पर जानकारी दी तथा प्रतिभागियों को प्रशिक्षण भी दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here