New Delhi/Alive News : एग्‍जाम का सीजन पास आ गया है और जल्‍द ही सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाएं शुरू होने वाली हैं. परीक्षा पास आते ही स्‍टूडेंट्स की टेंशन बढ़ जाती है और इससे उनकी पढ़ाई पर असर पड़ता है. टेंशन के इस समय में पूरे साल की तैयारी को सही अंजाम देने की जरूरत है. वैसे तो विज्ञान यानि सांइस सब्‍जेक्‍ट ज्‍यादातर स्‍टूडेंट्स का फेवरेट होता है, लेकिन अच्‍छे मार्क्‍स लाना इतना आसान नहीं होता है. साइंस में सबसे ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण सब्‍जेक्‍ट माना जाता है बायोलॉजी, क्‍योंकि एमबीबीएस, बीडीएस, बी फार्मा, बीटेक जैसे कोर्स में एडमिशन लेने वाले स्‍टूडेंट्स के लिए यह बहुत ही जरूरी होता है. यहां हम कुछ ऐसे टिप्‍स दे रहें हैं, जिनकी मदद से आप बायोलॉजी में अच्‍छे नंबर ला सकते हैं.

– रिविजन बहुत है जरूरी : एग्जाम शुरू होने में महज कुछ दिन ही बाकी हैं और यह वक्‍त रिविजन के लिए होता है. इसलिए इस बात का ख्‍याल रखें कि अब तक आपने जो पढ़ा है उसका रिविजन अच्‍छे से करें.

– एनसीईआरटी बुक से पढ़ें : सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाओं में सभी प्रश्‍न एनसीईआरटी बुक से पूछे जाते हैं, इसलिए एनसीआरटी बुक में दिए गए सभी टॉपिक्‍स को अच्‍छे से पढ़ लें.

– सिलेबस का ध्‍यान दें : एनसीईआरटी किताबों में आपके सिलेबस के अलावा बहुत सारी ऐसी चीजें हैं जो बोर्ड एग्‍जाम में नहीं आएंगी, इसलिए पढ़ाई करते समय सिलेबस का जरूर ध्‍यान रखें.

– डायग्राम की प्रैक्‍टिस कर लें : बायोलॉजी के पेपर में डायग्राम की भूमिका बहुत ही ज्‍यादा होती है. इसलिए टॉपिक्‍स को पढ़ने के साथ-साथ डायग्राम बनाने की भी प्रैक्‍टिस कर लें, क्‍योंकि सही जवाब लिखने के बावजूद अगर डायग्राम अच्‍छा नहीं बना तो नंबर कट सकता है.

– सैंपल पेपर को सॉल्‍व करें : अभी तक आपने अपना सिलेबस पूरा कर लिया होगा और एग्‍जाम की तैयारी के लिए रिविजन में लगे होंगे. रिविजन के लिए सबसे अच्‍छा तरीका होगा कि आप सैंपल पेपर को सॉल्‍व करें. सैंपल पेपर सॉल्‍व करते समय इस बात का विशेष ध्‍यान रखें कि आपने उसे कितने समय में सॉल्‍व किया.

फ्लैश कार्ड बनाओ : रिविजन और प्रैक्‍टिस के लिए फ्लैश कार्ड और चार्ट बनाएं और इसके माध्यम से पढ़ाई करें. एग्‍जाम के आखिरी दिनों में फ्लैश कार्ड और चार्ट आसानी से महत्वपूर्ण बिंदुओं को याद करने में मदद करेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here