Faridabad / Alive News : मुख्यमंत्री के रोड शो में अधिकारियों से बड़ी चूक हुई। इस चूक का आभास न ही स्वयं मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को हुआ और न ही उनके साथ रोड शो में ओपन जीप नंबर -एच आर -38, पी-1603 पर सवार केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर, राज्य के कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल, बडख़ल विधायिका सीमा त्रिखा, बल्लभगढ़ के विधायक पं. मूलचंद शर्मा को ही हुआ।

राज्य सरकार यूं तो हर मसले पर राष्ट्र व राष्ट्रभक्ति की बात करती है, लेकिन हद तब हो गई जब खुद मुख्यमंत्री खट्टर ओपन जीप पर सवार होकर राष्ट्रीय ध्वज का प्रतीक तिरंगा उल्टा लगा कर रोड शो करते हैं। मुख्यमंत्री खट्टर की ओपन जीप पर राष्ट्रीय ध्वज के प्रतीक तिरंगे की झण्डी का उल्टा लगना अधिकारियों और रोड शो की व्यवस्था पर प्रश्र चिन्ह खड़े करता है।

यदि यह भूल किसी अन्य नागरिक से हुई होती तो अब तक उस पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हो चुका होता। क्यों न इस चूक के जिम्मेदार अधिकारियों पर राष्ट्र द्रोह का मुकदमा दर्ज हो? जहां एक तरफ मुख्यमंत्री की सुरक्षा को लेकर फरीदाबाद पुलिस रोड़ शो में स्वागत करने वाले लोगों के गुलदस्ते तक को चैक करते देखे गए। ऐसी चाक-चौबंद व्यवस्था को देखने वाले अधिकारियों की सर्तकता पर उल्टी लगी झण्डी ने सवाल खड़े कर दिये है।

इसमें सबसे बड़ा दोष उन सरकारी उच्च अधिकारियों का है, जिन पर ये व्यवस्था की जिम्मेदारी थी। यह कोई सामान्य भूल नहीं है, क्योंकि यह राष्ट्र के सम्मान की बात है और राष्ट्र सबसे ऊपर होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here