1 अगस्त से गांवों में चलेगा स्वच्छता सर्वेक्षण

0
28

Faridabad/Alive News : शहरी स्वच्छता सर्वेक्षण के बाद अब ग्रामीण क्षेत्र की बारी है। जोकि एक अगस्त 2018 से आरम्भ होकर 31 अगस्त 2018 तक चलेगा। इस सर्वे से गावों को भी स्वच्छता में अपनी स्थिती जानने का मौका मिलेगा तथा कौन सा जिला ज्यादा स्वच्छ है राष्ट्र की तुलना की जाएगी। जिला फरीदाबाद के ग्रामीण क्षेत्र मे 100 अंको की परीक्षा होगी जिसके लिए जागरूकता अभियान चलाया जाएगा।

अतिरिक्त उपायुक्त महोदय ने स्वच्छता सर्वेक्षण से सम्बन्धित जारगरूकता हेतू सभी खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी, जिला शिक्षा अधिकारी जिला लोक सम्पर्क अधिकारी, समेकित बाल विकास अधिकारी, जिला राजस्व अधिकारी सभी ग्राम सचिव व अन्य विभागो के अधिकारियो के साथ-साथ स्वच्छ भारत मिशन ग्रा0 के प्रेरक दल को जरूरी दिशा-निर्देश दे दिए हैं।

स्वच्छ भारत मिशन-ग्रा0 के तहत सम्पूर्ण जिले को खुले में शौच मुक्त घोषित के स्तर के बाद का सर्वेक्षण करने भारत सरकार का सर्वेक्षण दल 1 अगस्त से गॉवों का निरिक्षण करेगा। इस सर्वेक्षण के दौरान ग्रामीण क्षेत्र को खुले में शौच मुक्त घोषित होने के बाद गावों में तरल व ठोस कचरा प्रबन्धन के कार्याे को भी देखा जाएगा।

ग्रामीण क्षेत्र के इस सर्वेक्षण को सफल बनाने हेतु सभी अधिकारियों कर्मचारियों को दिशा-निर्देश की रूप् रेखा भेज दी गई है जिसमें आदेश दिए गए है कि सभी ग्राम पंचायतों में जागरूकता हेतु ग्राम सभा का आयोजन किया जाए तथा ग्राम पंचायतों में प्रत्येक जगह साफ-सफाई होनी चाहिए।

ग्रामीण क्षेत्रों में कूड़े के ढेर का सही व उचित सिान हो। जिन ग्राम पंचायतों में कचरा प्रबंधन ईकाई बनी हुई है उनका संचालन सही रूप से हो रहा हो। बरसात के मौसम के कारण या अन्य किसी भी कारण से सडक़ों या रास्ते के गड्ढों में पानी न भरा हो यदि इस प्रकार का कोई सिान है तो उनमें मिट्टी आदि डलवाकर उन्हें भरा दिया जाए व उन की मरम्मत करा दी जाए ताकि उनमें फिर से बेकार पानी जमा न हो।

इस सम्बंध में स्कूल आंगनवाड़ी केन्द्र प्राथमिक चिकित्सा केन्द्र सामूदायिक केन्द ्रअस्पताल, बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन व अन्य सार्वजनिक सिानों आदि पर बने हुए शौचालयों की साफ-सफाई होने हेतु सम्बन्धित अधिकारीयों को सख्त आदेश दे दिए गए हैं। उनको हिदायत दी गई है कि इस मामले में किसी भी प्रकार की कौताही न बरते।

सभी ग्राम पंचायतों के प्रतिनिधियो व ग्राम संचिवों को आदेशित किया जा चुका है कि अपनी-अपनी ग्राम पंचायतों में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखते हुए स्वच्छ सर्वेक्षण के प्रति आमजन को अधिक से अधिक जागरूक करे। सम्बंधित ग्राम पंचायतों के मुख्य प्रवेश द्वार, स्कूल, आंगनवाड़ी केन्द्र, सामूदायिक केन्द्र व सभी सार्वजनिक स्थानों पर बैनर, पैंटिंग व पोस्टर आदि लगवाएं।

जागरूकता अभियान को अधिक से अधिक लोगों में फैलाने के लिए सुबह शाम मुनादी कराई जाए। सभी धार्मिक स्थानों मन्दिर, मस्जिद, गुरूद्वारे आदि के शौचालयों की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए। अतिरिक्त उपायुक्त ने ग्राम पंचायतों में स्वच्छता निगरानी कमेठी स्वयं सहायता समूह, युवा समूह आदि से अनुरोध किया है कि इस अभियान में बढ़-चढक़र भाग लें तथा अपने गॉव को आस-पास के अन्य गावों से सुन्दर बनाने की इस होड़ में आगे रहे।

अतिरिक्त उपायुक्त द्वारा आम जन से अपेक्षा की गई है कि इस अभियान को सफल बनाने हेतु प्रत्येक ग्रामीण का नैतिक कर्तव्य है। प्रत्येक ग्रामीण सदस्य, सरपंच, पंच, चैकिदार आदि उनके द्वारा की जाने वाली विजिट में उनका सहयोग करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here