Nuh/Alive News : हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शनिवार को नूंंह जिले के गांव बिस्सर अकबरपुर में कामधेनु आरोग्य संस्थान का शिलान्यास करने बाद उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत में गाय के प्रति लोगों के मन में श्रद्धा भाव है। गाय हर परिवार के लिए मान बिंदु है।  कार्यक्रम में दीप प्रज्जवलित करने के बाद उन्होंने कहा कि इतिहास में गौधूली की बेला को देखने का बहुत महत्व बताया जाता है मगर आज आम लोगों ने अपने घरों में गाय पालना बंद कर दिया है। प्रदेश भर में 432 गौशालाएं और तीन लाख गौधन हैं। उन्होंने कहा कि आज समय की जरूरत यह है कि लोग अपने घरों में गाय पालना शुरू कर दें। ऐसा करना संबंधित परिवार के लिए आर्थिक दृष्टिकोण और गायों के पालन पोषण के लिए जरूरी है।  मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा सरकार ने गौवंश की सुरक्षा और कल्याण के लिए कई नई योजनाएं शुरू करके लागू की हैं, जिनमें दुग्ध उत्पादन बढ़ाने और डेयरी उद्योग को बढ़ावा देने से संबंधित योजनाएं शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने तावडू क्षेत्र की कुछ मांगों का अपने भाषण में जिक्र करते हुए इनका समाधान जनवरी माह में किए जाने की घोषणाा की।
उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने कुरूक्षेत्र में गाय के दूध को पाश्चायुकृत करने का एक प्लांट स्थापित किया है, जिसमें दुग्ध से उत्पादित पदार्थों को दिल्ली और प्रदेश के बड़े शहरों में आपूत्र्ति किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गाय का दूध पीने से मानसिक और शारीरिक ताकत बढ़ती है। शरीर स्वस्थ और निरोग होता है। उन्होंने उक्त संस्था और कामधेनु गौधाम के विकास के लिए अपने स्वैच्छिक कोष से 21 लाख रुपए वित्तीय मदद देने की घोषणा की। इस मौके पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गौपूजन भी किया।
कार्यक्रम में केन्द्रीय शहरी विकास, आवास एवं गरीबी उन्मूलन मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने कहा कि आज के वक्त में ऐसे आरोग्य संस्थानों की सख्त जरूरत है। गौशाला का संचालन बहुत कठिन काम है। मैं खुद भी श्री दयानन्द गौशाला रेवाड़ी में चला रहा हूं। देश की इस पहली गौशाला का शुभारम्भ स्वामी दयानन्द ने किया था। उन्होंने इस संस्थान के विकास के लिए अपने कोष से 11 लाख रुपए वित्तीय मदद देने की घोषणा की। इस मौके पर एसपी गुप्ता ने कहा कि गांव बिस्सर अकबरपुर में कक्षा आठ के बाद बालिकाओं के लिए शिक्षा का कोई संस्थान नहीं। मुख्यमंत्री यहां कक्षा दस जमा दो के स्कूल की स्थापना की मंजूरी दें। उन्होंने तावडू को गुडगांव जिले में मिलाने की मांग को खारिज करते हुए मुख्यमंत्री से तावडू में उपमंडल की सभी सुविधाएं जल्द उपलब्ध कराए जाने की मांग उठाई। सांसद राव इंद्रजीत सिंह ने भी उनकी इस मांग का समर्थन किया। मुख्यमंत्री ने उनकी बालिका स्कूल की मांग को लेकर कहा कि प्रदेश के लिए इस विषय पर एक रोड मैप बनवाया जा रहा है, जिसके तहत पूरे प्रदेश में बालिका तालीम को बढ़ावा देने के लिए एक विशेष योजना लागू की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस आरोग्य संस्थान के निर्माण पर दस करोड़ रुपए लागत आएगी, जिसके तहत प्रथम चरण पर छह करोड़ रुपए खर्च होंगे।
इसमें प्राकृतिक और पंच तत्व आधारित विभिन्न चिकित्सा पद्धतियों से लोगों को इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने बताया इस गौधाम में चार बायोगैस प्लाट लगाने के अलावा देशी गायों की नस्ल सुधार का कार्यक्रम भी चल रहा है। देशी गोबर और गौ मूत्र से अन्य दवाओं के निर्माण भी किया जाएगा।
कार्यक्रम में आश्रम हरिमंदिर पटौदी के संचालक एवं महामंडलेश्वर स्वामी धर्मदेव ने पीएम नरेन्द्र मोदी और सीएम मनोहर लाल को महान तपस्वी बताते हुए कहा कि इन दिनों देश के लोगों के लिए एक तपस्या का दौर चल रहा है और निश्चित तौर पर भविष्य में अच्छा समय आएगा।
इस मौके पर मंत्री राव इंद्रजीत सिंह और मुख्यमंत्री ने दो पुस्तकों को अनावरण भी किया। कार्यक्रम में सोहना-तावडू से भाजपा विधायक तेजपाल तंवर, पुन्हाना से विधायक रहीश खान, गौसेवा आयोग के चेयरमैन भानीराम मंगला, उपायुक्त मनीराम शर्मा, पुलिस अधीक्षक कुलदीप सिंह के अलावा गौधाम के संचालक एसपी गुप्ता, डॉ. शशिबाला गुप्ता, एमपी गोयल रेवाड़ी, कंवर संजय सिंह उजीना, हाजी जुबैर खान, कमल यादव, पूर्ण बंसल, भूपेन्द्र सिंह, बसंत बंसल, डॉ. श्रीराम सिवाच, डॉ. पवन कुमार गुडगांव, रामौतार गर्ग, डॉ. गौतम सूद, सुनील जिंदल, प्रेमपाल गुप्ता, श्रीमती सुखविन्द्र कौर, राजकुमार गर्ग, राजकुमार गुप्ता समेत प्रशासन के अधिकारी एवं ग्रामीण क्षेत्र से सैंकड़ों लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम में आयोजकों ने केन्द्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह, मुख्यमंत्री मनोहर लाल और अन्य गणमान्य लोगों को अंगवस्त्र और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here