Faridabad/Alive News : अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् (एआईसीटीई) द्वारा मौजूदा शैक्षणिक सत्र से बीटेक के प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए शुरू किये गये तीन सप्ताह के अनिवार्य इंडक्शन कार्यक्रम का वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद द्वारा सफल आयोजन किया गया। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के विभिन्न इंजीनियरिंग विभागों में शैक्षणिक सत्र 2018-19 में दाखिल हुए 540 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया।

कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कार्यक्रम के सफल आयोजन पर विद्यार्थी कल्याण विभाग को बधाई दी तथा कार्यक्रम को रूचिकर व शिक्षाप्रद बनाने के लिए अच्छे वक्ताओं को आमंत्रित करने तथा विविधता लाने के लिए किये गये प्रयासों की सराहना की।

इंडक्शन कार्यक्रम के पहले संस्करण का समापन समारोह काफी रंगारंग रहा, जिसमें सभी डीन व विभागाध्यक्षों ने भी हिस्सा लिया। समापन समारोह में विभिन्न सांस्कृतिक क्लबों के विद्यार्थियों ने अपनी प्रतिभा दिखाई, जिसे सभी द्वारा सराहा गया। इस अवसर पर मीडिया के विद्यार्थियों द्वारा विश्वविद्यालय पर बनाई गई डाॅक्यूमेंटरी भी प्रदर्शित की गई। इस तीन सप्ताह के कार्यक्रम को विद्यार्थी कल्याण विभाग द्वारा डीन स्टूडेंट वेलफेयर की देखरेख में आयोजित किया गया।

इस अनिवार्य इंडक्शन कार्यक्रम का उद्देश्य इंजीनियरिंग के नये विद्यार्थियों को विश्वविद्यालय से परिचित करवाना तथा पढ़ाई से अलग अन्य रूचिकर गतिविधियों के लिए प्रोत्साहित करना था। तीन सप्ताह के कार्यक्रम के दौरान इंजीनियरिंग के नये विद्यार्थियों के लिए कोई क्लास नहीं लगाई गई और उन्हें केवल रूचिकर व जीवन मूल्यों से जुड़ी गतिविधियों में लगाया गया।

इस दौरान विद्यार्थियों के लिए योग व मेडिटेशन, तनाव प्रबंधन, नैतिक मूल्यों, स्वास्थ्य एवं पोषाहार, करियर परामर्श, संचार कौशल तथा आत्म रक्षा से संबंधित सत्र व गतिविधियां आयोजित की गई। इसके अलावा, विद्यार्थियों के व्यक्तित्व विकास के लिए उनकी कई खामियों को दूर करने के लिए भी अलग-अलग सत्र लगाये गये, जिसमें अंग्रेजी में कमजोर विद्यार्थियों के लिए अंग्रेजी की विशेष कक्षाओं का आयोजन शामिल रहा।

समापन सत्र में विद्यार्थी कल्याण विभाग की ओर से सभी विभागाध्यक्षों तथा प्रतिभागियों का धन्यवाद करते हुए डाॅ. सोनिया बंसल ने तीन सप्ताह के कार्यक्रम का पूरा ब्यौरा प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम के दौरान 53 विशेषज्ञ व्याख्यान तथा 23 विविध गतिविधियां आयोजित की गई।

इस दौरान विश्वविद्यालय के सभी विभागाध्यक्षों, प्रमुख कार्यालयों तथा विद्यार्थी क्लबों द्वारा नये विद्यार्थियों को विभिन्न विभागों, कार्यालयों तथा विद्यार्थी क्लबों की कार्य प्रणाली से अवगत करवाया गया। विद्यार्थियों को सामाजिक व पर्यावरण संबंधी विषयों के प्रति जागरूक बनाने के लिए स्वच्छता अभियान, पौधारोपण तथा नुक्कड़ नाटक का आयोजन भी किया गया। इसके अलावा, विद्यार्थी कल्याण विभाग द्वारा सभी विद्यार्थियों से कार्यक्रम को लेकर प्रतिक्रिया भी मांगी गई है, जिसके आधार पर कार्यक्रम का गुणवत्ता मानदंडों पर मूल्यांकन किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here