कांग्रेस को महागठबंधन से दूर रखने की सपा-बसपा ने बताई यह वजह

0
10

U.P/Alive News : उत्तर प्रदेश में पहले से ही मरणासन स्थिति में नजर आ रही कांग्रेस को आम चुनाव से पहले उसी की पार्टी के नेता और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के एक बयान से जोर का झटका लगा है। कमलनाथ ने जैसे ही विवादास्पद टिप्पणी में यूपी−बिहार के लोगों को बाहरी करार दिया, उन्हें दिल्ली और यूपी के भाजपा नेताओं ने तो घेर ही लिया।

समाजवादी और बहुजन समाज पार्टी के नेता भी कांग्रेस पर हमलावर हो गये। इसी के साथ यह भी तय हो गया कि कांग्रेस के लिये अब सपा−बसपा शायद ही गठबंधन के दरवाजे खोलें। यूपी की तरह बिहार से भी कांग्रेस के खिलाफ आवाज उठ रही है। राष्ट्रीय जनता दल नेता तेजस्वी यादव ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त कर कांग्रेस को चेता दिया है, जो हालात बन रहे हैं उससे तो यही लगता है कि कांग्रेस को कम से कम उत्तर प्रदेश में तो अकेले अपने दम पर ही चुनाव जीतना होगा। कहा तो यह भी जा रहा है कि कांग्रेस को दरकिनार करके सपा−बसपा ने गठबंधन में सीटों का फार्मूला भी तय कर लिया है।

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शपथ ग्रहण करने के बाद मीडिया से रूबरू होते हुए कहा था कि मध्य प्रदेश के लोगों को पूरा रोजगार नहीं मिल पा रहा है क्योंकि बाहरी यानी बिहार और यूपी के लोग बड़ी संख्या में रोजगार पा जाते हैं। कांग्रेस का यह बयान उत्तर प्रदेश में दो सीटों पर सिमट चुकी कांग्रेस को एक बार फिर जबर्दस्त झटका दिला सकता है। सूत्र बताते हैं कि पांच राज्यों के चुनाव में बेहतर प्रदर्शन के बाद बसपा और समाजवादी पार्टी ने कांग्रेस को गठबंधन में शामिल नहीं करने का बड़ा फैसला कर लिया था। इस पर कमलनाथ के बयान ने नमक−मिर्च छिडक़ने का काम कर दिया।

अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में सपा−बसपा अजित सिंह के राष्ट्रीय लोकदल को साथ लेकर बीजेपी को चुनौती देंगे। कहा तो यहां तक जाता है कि तीनों के बीच सीटों का फार्मूला भी तय हो गया है। बसपा जहां 38 सीटों पर वहीं सपा 37 और रालोद तीन सीटों पर चुनाव लड़ेगा। हाँ, सपा−बसपा कांग्रेस पर इतनी मेहरबानी जरूर करेंगे कि कांग्रेसी गढ़ माने जाने वाले रायबरेली और अमेठी संसदीय सीट पर बसपा−सपा अपना प्रत्याशी चुनाव नहीं लड़ाएंगे। सपा अपने कोटे की कुछ और सीटें भी व्यक्ति विशेष या छोटे दलों को दे सकती है।

Print Friendly, PDF & Email

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here