Faridabad/Alive News : भूपानी स्थित सतयुग वशुंधरा स्कूल में एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें स्कूल में पढऩे वाले छात्रों के अभिभावकों ने भाग लिया। कार्यक्रम में अभिभावकों ने आपस के गिले सिकवो को भूल कर हंसते हुए स्वादिष्ट व्यंजनों को बनाया और इस मौके को खुलकर जीया। इस मौके पर संस्था के ट्रस्टी साजन ने कहा कि पति-पत्नी की पारस्परिक हार्दिक एकता एवं आत्मिक शांति एक सुखी एवं समृद्ध परिवार के साथ-साथ स्वस्थ समाज की सुदृढ़ आधारशिला है।

ऐसे पति-पत्नी जो दोष दृष्टि से विमुक्त होकर एक दूसरे को आत्मीयता की दृष्टि से देखें, मुख से मीठे वचन बोलें, अपनी हैसियत में ही संतुष्ट बने रह, पतिव्रत-पत्निव्रत धर्म की मर्यादा का पालन करते हुए धीरता से सद्व्यहार करें तथा आपस में विश्वास, दृढ़ता और उत्साह से प्रसन्नतापूर्वक मिल-बाँट कर दापंत्य जीवन के समस्त कर्तव्यों का निर्वाह करते हुए, नेक कमाई से परिवार का भरण-पोषण करें, वे ही सदा सत्य-धर्म के मार्ग पर अग्रसर रहते हुए अपनी संतानों सहित संपर्क में आने वाले अन्य सजनों को समभाव से सदाचार के मार्ग पर प्रशस्त कर सकते हैं।

इस तरह वे ही संगठित रूप से, एक आदर्श संस्कारी समाज की कल्पना को साकार कर, इस विश्व को सतयुगी संस्कृति के अनुरूप श्रेष्ठतम स5यता का परिचायक बना सकते हैं। इन्हीं आयोजनों की श्रृंखला में सजनों ट्रस्ट द्वारा पहले 29 अगस्त 2017 को जालन्धर शहर में और अब 26 नवमबर 2017 को फरीदाबाद, गाँव भूपानि स्थित, वसुन्धरा परिसर में एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसके अंतर्गत समिमलित हुए समस्त पति-पत्नियों ने आपसी समस्त मतभेदों व कड़वाहट को भुलाकर प्रेम और प्रीतिपूर्वक खाना बनाया, खिलाया व नि:स्वार्थ भाव से अटूट विश्वास के साथ मिलजुल कर हँसते-हँसते पारिवारिक जीवन के कर्तव्यों का पालन करने की कला सीखी।

उन्होंने कहा कि सजनों ‘फरीदाबाद का हंसता-हंसाता फूड जंशन’ नामक इस कार्यक्रम के अंतर्गत संतुलित सात्विक आहार के सेवन की महता, खाना बनाने व परोसने के तरीके के संदर्भ में सजनों को समझाया गया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here