BHU में क्लासेज शुरू करने की मांग के साथ छात्रों का प्रदर्शन, धरने पर बैठे

0
17
Sponsored Advertisement

New Delhi/Alive News : कोरोना काल के लगभग 11 महीनों बाद एशिया के सबसे बड़े आवासीय विश्वविद्यालय बीएचयू के दरवाजे अंतिम वर्ष के छात्रों के पठन-पाठन के लिए खोल दिए गए. लेकिन इससे नाराज होकर पहले और दूसरे वर्ष के छात्रों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए बीएचयू का मेन गेट बंद करके वही धरना शुरू कर दिया.

आज से लगभग 11 महीने बाद बीएचयू में अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए हाइब्रिड क्लास ऑफलाइन और ऑनलाइन संचालित होना शुरू हो गया. बता दें क‍ि सिर्फ अंतिम वर्ष के छात्रों की ही पढ़ाई शुरू होने के कारण पहले व दूसरे वर्ष के छात्रों का आक्रोश कैंपस की सड़कों पर उतर आया.

छात्रों ने सैकड़ों की तादाद में जुटकर बीएचयू का मेन गेट ही बंद कर दिया और वहां धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया. इस दौरान बीएचयू प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए छात्रों ने अपने भविष्य को अंधकार में जाने का आरोप लगाते हुए बैनर तख्ती भी ले रखी थी.

प्रदर्शनकारी बीएचयू छात्र क्लासेस जल्द से जल्द शुरू कराने की जिद पर अड़े थे और इससे कम पर राजी भी नहीं हो रहे थे. इस दौरान विश्वविद्यालय प्रशासन से लेकर स्थानीय पुलिस प्रशासन ने भी छात्रों को काफी समझाने की भी कोशिश की, लेकिन वह माने नहीं और बताया कि जब तक उनकी कक्षाएं नहीं शुरु कर दी जाती तब तक वे यूं ही मेन गेट को घेर कर बैठे रहेंगे.

गेटबंदी के दौरान बीएचयू के छात्रों ने दो मिनी गेट को भी बंद करने की कोशिश की, लेकिन मौके पर पहुंचे डिप्टी चीफ प्रॉक्टर और सुरक्षाकर्मियों ने जब उनको ऐसा करने से रोका तो दोनों की आपस में जमकर कहासुनी और धक्कामुक्की हुई. अंत में छात्र मिनी गेट नहीं बंद कर सकें. आज सोमवार के दिन ही बीएचयू में इस तरह का उपद्रव होने के चलते ना केवल विश्वविद्यालय आने वाले लोगों, बल्कि बीएचयू अस्पताल पहुंचने वाले मरीजों और उनके परिजनों को भी काफी मुसीबत का सामना करना पड़ा.

Print Friendly, PDF & Email
Sponsored Advertisement