प्लान 2031 के तहत होगा अब पिहोवा और शाहबाद क्षेत्र का विकास : धर्मवीर

0
24

Kurukshetra/ Alive News : अतिरिक्त उपायुक्त धर्मवीर सिंह ने कहा कि पिहोवा और शाहबाद शहर के विकास के लिए प्लान 2031 तैयार किया गया है। इस योजना के अनुसार ही अब पिहोवा और शाहबाद शहर का विकास किया जाएगा। अहम पहलु यह है कि पिहोवा शहर के विकास के लिए पहली बार 2031 एडी प्लान तैयार किया गया है।

वे मंगलवार को लघु सचिवालय उपायुक्त कार्यालय में डीटीपी, जिला परिषद सदस्यों व कमेटी के सदस्यों की एक संयुक्त बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। इससे पहले डीटीपी एसके पूनिया ने पिहोवा और शाहबाद क्षेत्र के विकास के लिए विकास प्लान 2031 एडी का प्रारुप सबके समक्ष रखा और इस प्लान के बारे में विस्तृत जानकारी महैया करवाई। एडीसी ने कहा कि पिहोवा शहर के लिए आज तक विकास को कोई प्लान तैयार नहीं किया गया था। पहली बार पिहोवा शहर के आसपास के क्षेत्र को विकसित करने के लिए प्लान 2031 तैयार किया गया है। पिहोवा शहर वर्ष 1985 व 2007 में नियंत्रित क्षेत्र घोषित किया गया और अब विकास प्लान 2031 एडी डीडीपीओ कार्यालय द्वारा पंजाब अनुसूचित सडक़ तथा नियंत्रित क्षेत्र अधिनियम विकास निर्बंधन 1963 की धारा 5 की उपधारा 4 तथा हरियाणा नगर पालिका अधिनियम 1973 की धारा 203 की उपधारा 2 के तहत तैयार किया गया हैं। इस प्लान को पिहोवा में 1 लाख 10 हजार प्रस्तावित जनसंख्या के अनुसार तैयार किया गया है।

उन्होंने कहा कि पिहोवा में नए प्लान के अनुसार रिहायशी सेक्टर 1, 2, 3, 4ए, 9 व 10 प्रस्तावित होंगे। प्रत्येक आवासीय सेक्टर को सघनता के अनुसार विकसित किया जाएगा। इसके अलावा पिहोवा में वाणिज्यक उदेश्य को लिया 62 हेक्टेयर भूमि का क्षेत्र आरक्षित किया गया और सेक्टर 4, 7, 12 में वाणिज्यक क्रिया कलापों के लिए प्रस्तावित किया गया है। इतना ही नहीं कृषि आधारित उद्योगों को ध्यान में रखते हुए सेक्टर 8 में 71 हेक्टेयर क्ष्ेात्र औद्योगिक क्षेत्र प्रस्तावित किए गए है। परिवहन तथा संचार क्षेत्र के अधीन सेक्टर 6 में 21 हेक्टेयर क्षेत्र चिन्हित किया गया है। जल उपयोगिताओं के लिए 24 हेक्टेयर क्षेत्र चिन्हित किया गया है, जिसमें सीवरेज, ठोस कचरा प्रबंधन तथा बिजली घर स्थापित किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि पिहोवा में ही शैक्षणिक, सांस्कृतिक, धार्मिक, संस्थागत, चिकित्सा तथा स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए 37 हेक्टेयर का क्षेत्र सेक्टर 5 व 12 में प्रस्तावित किया गया है। पिहोवा शहर में कई धार्मिक स्थान होने के कारण सेक्टर 2ए व 11 में खुले स्थानों पार्क व स्पोटर्स ग्रांउड के लिए 61 हेक्टेयर क्षेत्र आरक्षित किया गया है। इसके अलावा प्लान के अनुसार 5 एकड़ में अस्पताल, 10 एकड़ में कालेज, 2 एकड़ में फायर स्टेशन, 2 एकड़ में पुलिस स्टेशन, डेयरी साईट, कचरा प्रबंधन, वाटर सप्लाई आदि की व्यवस्था भी की गई हैं। इस मौके पर एसडीएम नरेन्द्र पाल मलिक, डीटीपी एसके पूनिया, जिला परिषद की उपाध्यक्ष परमजीत कौर कश्यप, सुरेन्द्र माजरी, लाडवा नपा की चेयरमैन साक्षी खुराना, रामकिशन सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

लाडवा को विकसित करने के लिए भी जल्द तैयार होगा प्लान
पिहोवा, शाहबाद के विकास के लिए मास्टर प्लान 2031 तैयार होने पर नगर पालिका लाडवा की चेयरमैन साक्षी खुराना ने भी बैठक में लाडवा के विकास के लिए मास्टर प्लान तैयार करवाने की बात रखी। इस विषय पर एडीसी धर्मवीर सिंह ने डीटीपी एसके पूनिया से चर्चा करने के बाद कहा कि लाडवा शहर का विकास करने के लिए शीघ्र ही मास्टर प्लान तैयार किया जाएगा।

शाहबाद शहर में बनेंगे 7 रिहायसी सेक्टर
अतिरिक्त उपायुक्त धर्मवीर सिंह ने कहा कि शाहबाद शहर के विकास हेतू प्लान 2025 तैयार किया गया था लेकिन अब शहर का विकास प्लान 2031 एडी के अनुसार किया जाएगा। इस शहर को वर्ष 1970 व 2009 तक समय-समय पर नियंत्रित क्षेत्र घोषित किया गया और अब इस शहर को प्रस्तावित जनसंख्या 1 लाख 46 हजार के अनुसार प्लान 2031 तैयार किया जाएगा। इस प्लान के अनुसार विद्यमान शहर के अतिरिक्त 385 हेक्टेयर भूमि आरक्षित की गई है। इस प्लान के अनुसार रिहायसी सेक्टर 1, 5, 6, 9, 10, 13 व 14 प्रस्तावित किए गए है। वाणिज्यक उदेश्यों के लिए 103 हेक्टेयर भूमि का क्षेत्र आरक्षित किया गया है।

सिटी सेंटर परचुन व व्यापार, थोक व्यापार कार्यालयों व बैंकों के लिए सेक्टर 3, 9, 12 व 14 में प्रस्तावित किया गया है। कृषि आधारित उद्योगों को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 44 के साथ औद्योगिक गतिविधियों को उन्नत करने के लिए औद्योगिक सम्पदा के सेक्टर 3, 7, 8 व 11 प्रस्तावित किए गए है। एडीसी ने बताया कि परिवहन और संचार क्षेत्र के अधीन सेक्टर 4 व 11 में 56 हेक्टेयर क्षेत्र चयनित किया गया है। राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ सेक्टर 1 में बिजली घर की बढौतरी की योजना है। जन उपयोगिताओं के लिए सेक्टर 12 में पर्याप्त स्थान रखा गया है। इसके अतिरिक्त ठोस कचरा प्रबंधन के लिए गांव त्यौड़ा और गांव ढोला माजरा में 7 हेक्टेयर संयुक्त भूमि का क्षेत्र चिन्हित किया गया है।

उन्होंने कहा कि शैक्षणिक, सांस्कृतिक, धार्मिक, संस्थागत, चिकित्सा तथा स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए 44 हेक्टेयर का क्षेत्र सेक्टर 2 व 10 में प्रस्तावित है। कामकाजी महिलाओं के लिए होस्टल के लिए 1 एकड़, वृद्धाश्रम के लिए 1 एकड़ भूमि सेक्टर 10 में प्रस्तावित की गई है। इतना ही नहीं राष्ट्रीय राजमार्ग के दोनो और 60 मीटर चौड़ी प्रतिबन्धित पट्टी प्रस्तावित है। सेक्टर 11 पार्ट में 16 हेक्टेयर भूमि पर टाउन पार्क, सेक्टर 14 पार्ट में 48 हेक्टेयर क्षेत्र स्पोर्टस ग्राउंड, पार्क व अन्य मनोरंजनात्मक उपयोग के लिए आरक्षित हैं। इसके अलावा सेक्टर 2 भाग में विशेष अंचल परियोजन के लिए 16 हेक्टेयर का क्षेत्र आरक्षित किया गया है। उन्होंने बताया कि इस प्लान के अनुसार सेक्टर 11 स्टेडियम व टाउन पार्क, सेक्टर 14 में स्लाटर हाउस प्रस्तावित हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here