डिजिटल प्लेटफार्म पर होगा अनूठा ‘अंतर्राष्ट्रीय मानवता ओलम्पियाड’

0
24

Faridabad/Alive News : सतयुग दर्शन ट्रस्ट द्वारा आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय मानवता ओलमिपयाड को समाज के हर वर्ग के द्वारा प्रशंसा व प्रोत्साहन प्राप्त हो रहा है। यह इस परीक्षा के आयोजन का लगातार चतुर्थ वर्ष है और इस वर्ष डिजिटल प्लेटफार्म अपनाकर इसने अपनी पहुँच को विस्तृत किया है। अवधारणा को स्पष्ट करने में सहायक चित्रावली के साथ बहु-विकल्पीय प्रश्नों का नया प्रारूप, तुरन्त परिणाम और ऑन-लाईन प्रमाण-पत्र ने इस पन्द्रह मिनट की आत्म-विश्लेषणात्मक परीक्षा को विद्यार्थियों, अध्यापकों व अभिभावकों के पसन्दीदा क्र्रिया-कलापों की श्रेणी में लाकर खड़ा कर दिया है।

सांसद एवं आर्ट ओफ़ लिविंगज् संस्था के भूतपूर्व डॉयरेक्टर महेश गिरी ने इस श्रेष्ठ कार्य का प्रचार एवं प्रसार करने के लिये सतयुग दर्शन ट्रस्ट को मुबारकबाद देते हुए इस बात पर जोर दिया कि लोगों को निष्काम सेवा के प्रति तत्पर करना आत्मीयता के भाव में मज़बूत समाज की बुनियाद स्थापित करने में सहायक सिद्ध होगा। इस प्रकार मानवता विकास लब के निष्काम सेवक यह युवा, विभिन्न शहरों, आयु-वर्गों तथा व्यवसायियों के मध्य इस ओलमिपयाड को करवाने के साथ-साथ मानवीय गुणों पर विचारशील अन्तर्दृष्टि भी प्राप्त कर रहे हैं।

सुरेश द्विवेदी (ए. सी. एल. इन्सटीटयूट, गुरुग्राम) पच्चीस प्रश्नों की रुचिकर प्रश्नावली से बहुत प्रभावित हुए हैं। उन्होंने कहा – पूछे गये सभी प्रश्न मानवीय मूल्यों पर आधारित हैं, जिससे प्रभावित हो वह समाज में इन गुणों की कमी के कारणों को खोजकर उनके सुधार के विषय में आवश्यक कदम उठाने पर मज़बूर हो गये हैं। वह अनुभव कर रहे हैं कि वर्तमान समय में यह ओलमिपयाड सभी के लिये आवश्यक है।

पिछले तीन सालों में तीस लाख प्रतिभागियों तक पहुंच व उन्हें प्रबुद्ध बनाने के बाद इस मानवता ओलमिपयाड ने दो महीने के समय में अतिरिक्त पांच लाख से भी अधिक प्रतिभागियों को मानवता के विषय से परिचित कराने के इस अनूठे कार्य में आशातीत सफलता प्राप्त की है। इस सन्दर्भ में सब स्वीकार रहे हैं कि इस ओलमिपयाड को डिजिटल प्लेटफार्म पर आयोजित करवाना ट्रस्ट द्वारा उठाया गया एक व्यवहारिक कदम है|

इससे प्रतिभागियों की संख्या लगातार तेजी से बढ़ती जा रही है। पूरे भारतवर्ष के विभिन्न स्कूल और कोचिंग सैटर अपने विद्यार्थियों की उन्नति का निरीक्षण करने के लिये इस सन्दर्भ में भारतीय सिनेमा व टेलीविजन के प्रसिद्ध कलाकार मि. अवतार गिल ने सतयुग दर्शन ट्रस्ट द्वारा आज की पीढ़ी को जन्म-जात मानवीय गुणों से परिचित कराने के इस अनूठे प्रयास की सराहना करते हुए कहा है कि यह अद्वितीय प्रयास आज की पीढ़ी को एक अच्छा नागरिक बनायेगा जिससे एक महान समाज का गठन करना सहज हो जायेगा। राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता, सिनेमा व टेलीविजन कलाकार पवन मल्होत्रा ने जोरदार शब्दों में अपने सह-कलाकार के विचारों का समर्थन करते हुए ओलमिपयाड को डिजिटल भारत के साथ जोडऩे के प्रयास की प्रशंसा की।

यह पुरस्कार-वितरण समारोह दिनंाक सात सितमबर 2018 को ट्रस्ट के सभागार में हज़ारों की संख्या में उपस्थित गणमान्य व्यक्तियों के मध्य दिया जायेगा। आप सब भी अपने परिवारों व सगे-समबन्धियों सहित इस आयोजन में समिमलित होने का लाभ उठा सकते हैं और मानवता के विषय में दिशा-निर्देशन प्राप्त कर अपना जीवन सफल बना सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here