मदरसे में दस्तार बंदी कार्यक्रम का आयोजन

0
72

Faridabad/ Alive News: मदरसा हिदायतुल इस्लाम मोहम्मदिया के दस्तार बंदी कार्यक्रम का आयोजन आई ब्लॉक, शिव विहार, लक्कड़पुर फरीदाबाद में बड़े धूमधाम से किया गया. कार्यक्रम में दर्जनों छात्रों को पगड़ी बांधकर उन्हें डिग्री दी गयी. जलसे में देवबंद से आये मौलाना मोहम्मद अफजल, दिल्ली से मौलाना शैयद अतहर, मेवात से मुफ़्ती मोहम्मद वासिम कासमी और मेवात से मोहम्मद मुफ़्ती रफ़ीक कासमी जैसे दिग्गज उल्मा-ए-करामों ने शिरकत की.

इस मौके पर मौलाना मोहम्मद अफजल- देवबंद ने उपस्थित लोगों को खुदा की इबादत और हुजूर की सुन्नतों पर अमल करने की बात कही। मौलाना मोहम्मद अफजल ने कहा कि मुस्लिम पाबंदी से नमाज कायम करें। हाफिज मोहम्मद राशिद अंसारी, मौलाना शैयद अतहर, मुफ़्ती मोहम्मद वासिम कासमी और मोहम्मद मुफ़्ती रफ़ीक कासमी संयुक्त रूप से मॉ-बाप के हक एवं उनके मर्तबे के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने उपस्थित लोगो से अपने बच्चों को तालीम देने की अपील की और कहा कि शिक्षा एक ऐसा हथियार है जिसके माध्यम से न सिर्फ अज्ञानता दूर होती है बल्कि समाज में फैली ऊंच-नीच जाती-पति को उखाड़ फेकती है और इंसान को उच्च दर्जे की जीवन जीने की राह दिखती है.


जलसे की अध्यक्षता कर रहे मौलाना अब्दुल सत्तार रब्बानी ने मुस्लिमों से दीन पर चलने की बात कही। मौलाना रब्बानी ने कहा कि आज देश में हालात नाजुक है, कोई भी अफवाह बड़े घटना का कारण बन जाता है, ऐसे में यह हमारी जिम्मेवारी बनती है की हम अफवाहों पर ध्यान न देकर अपने पडोसी भाई से रिश्ते ख़राब करने से बचें। उन्होंने कहा कि दूसरों की मदद करना भी इबादत है. जलसे में स्थानीय लोगों की बड़ी तादाद देखी गयी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here