बैंक का हर कर्मचारी सोलजर की भांति कर रहा है काम : मिथिलेश कुमार

0
27

Faridabad/Alive News : फरीदाबाद में नोटबंदी के बाद बैंकों पर उमड़े भारी जनसैलाब को देखते हुए आम-आदमी की परेशानी, व्यापारी के व्यापार और बैंक कर्मचारियों के संघर्ष को सांझा करने के लिए ‘‘अलाईव न्यूज’’ संपादक तिलक राज शर्मा ने जवाहर कालोनी स्थित सैन्ट्रल बैंक ऑफ इण्डिया के मैनेजर मिथिलेश कुमार से बातचीत की, उसके अंश इस प्रकार है:-

central-bank

प्र. पूरे देश में नोटबंदी के बाद बैंक की गतिविधियां कैसी चल रही है ?
उत्तर – देखिए, नोटबंदी के बाद बैंक में कार्य सुचारू रूप से चल रहा है। बैंक का प्रत्येक स्टॉफ एक सोलजर की भांति देशहित में जनता के सहयोग के लिए कार्य कर रहा है। हमारा बैंक लोगों को सेवाएं देने के लिए तत्पर है और रहेगा।

प्र. सैंट्रल बैंक की ए.टी.एम सेवाएं दुरूस्त नही हैं ऐसा कब तक चलेगा ?
उत्तर- यह कहने की बात नहीं है देखिए, ए.टी.एम में 60 से 70 प्रतिशत कैश लौड कर दिया गया है। हमारे बैंक के ए.टी.एम सभी दुरूस्त है और कल से ही काम कर रहे है। लेकिन हमारे बैंक की मोबाईल सेवाएं अभी लोगों के लिए फरीदाबाद में उपलब्ध नही कराई गई हैं।

प्र. आपकी ब्रांच में नोट बदलने और जमा करने के लिए भीड़ के हिसाब से कितने काऊन्टर है ?
उत्तर- मैं आपको बताना चाहंूगा कि मेरी बं्राच को क्षेत्रीय कार्यालय से दो कर्मचारी स्टॅाफ के अलावा मिले है और लोगों को असुविधा न हो काम जल्दी-जल्दी खत्म हों, उसके लिए 2 नोट बदलने के लिए काऊन्टर तथा 5 केश लेने के लिए कॉऊन्टर खोले गए है और प्रत्येक कैशियर के साथ एक कर्मचारी कम्प्यूटर में आरबीआई के पोर्टल में भीड़ करने के लिए रखा हुआ है।

प्र. मैंनेजर साहेब,भीड़ दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है सुरक्षा के हिसाब से बैंक पर कैसा चल रहा है ?
उत्तर- देखिए, जब से नोटबंदी की सुचना मिली और भीड़ का आना तय था। तभी से बैंक पर पुलिस के कार्मचारी सही थाना सारन एस.एच.ओ विनोद कुमार का पुरा सहयोग मिल रहा है। तभी व्यवस्था बनी हुई है और ग्राहकों को बैंक संतुष्ट कर पा रहा है।

प्र. भीड़ से बैंक के अन्य कार्यो पर कोई प्रभाव तथा बैंक के अपने ग्राहकों का असंतुष्ट होना भविष्य में बैंक पर क्या प्रभाव होंगे ?
उत्तर- देखिए, अपना ग्राहक अपना होता है, और रही बता बैंकिग के कार्यो की उनमें थोड़ी बांधा आई है। उनको बैंक स्टॅाफ मिलकर, दुरूस्त कर लेगा। बैंक ग्राहकों की असंतुष्टी पर कहा कि वह हमारे अपने है और अपने ही अपनो का दुख समझते है। उनके कोई हमारे प्रति नाराजगी नही है। जो काम प्रधानमंत्री ने देशहित के लिए सौंपा है असका भी हमारे ग्राहकों ख्याल है।

प्र. घोषणा का पाचवां दिन है आपके बैंक ने कितने नोट बदले और कितना कैश जमा किया है ?
उत्तर- देखिए , मैं आपकों पहले भी बता चुका हूं कि हमने बैंक व्यवस्था बनाए रखने के लिए नोट बदलने के लिए दो काउन्टर जिनमें लगभग 18 से 20 लाख नोट प्रतिदिन बदले जा रहे है और कैश की ट्रांजेक्शन हमारे बैंक से लगभग 13,16.41083 रूपए हुए है। उन्होंने यह भी कहा कि पहले इस तहर का आंकड़ा हमारे यहां कभी नही हुआ लेकिन इस से बैंक और सुदृढ़ होंगे, इसी से व्यापार में गति आएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here