Faridabad/ Alive News: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज घोषणा की कि फरीदाबाद की उन अनाधिकृत बस्तियों व कालोनियों को नियमित किया जायेगा, जिसमें रहने वाले लोग 1250 रूपये प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से विकास शुल्क भरेंगे। इसके लिए कालोनीवासियों की रैजिडैंट वैलफेयर एसोसियेशन का बैंक में एक एस्क्रो खाता खोला जायेगा और जब 50 प्रतिशत से ज्यादा वासियों का विकास शुल्क उसमें जमा हो जायेगा, तब उस कालोनी को नियमित करने की घोषणा कर दी जायेगी।

मुख्यमंत्री आज स्थानीय एमसीएफ आॅडिटोरियम में आयोजित जनता दरबार में जन सामान्य की समस्याएं सुन रहे थे। उन्होंने लगभग तीन घंटे तक आम जनता की समस्याएं सुनी और मौके पर ही अधिकारियों को उनका जल्द से जल्द समाधान करने के निर्देश दिए। इस दौरान जो मांगे आयी, मुख्यमंत्री ने कहा कि इनकी फिजिबिल्टी का अध्ययन करवाकर पूरी हो सकने वाली मांगों पर कार्यवाही की जायेगी।
शिकायते सुनने के दौरान मुख्यमंत्री ने बिजली निगम के अधिकारियों को आदेश दिए कि वे ऐसी व्यवस्था करने का प्रयास करें कि यमुना के दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश की तरफ रहने वाले हरियाणा के ग्रामीणों को बिजली की आपूर्ति उत्तर प्रदेश से हो जाये और हरियाणा की तरफ पड़ने वाले उत्तर प्रदेश के गांवों को बिजली हरियाणा से मिल जाये। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार इस मामले में पहल कर चुकी है और हाल ही में उत्तर प्रदेश के एक गांव को हरियाणा से बिजली उपलब्ध करवाई गई है। बैठक में बताया गया कि यमुना नदी द्वारा अपना रास्ता बदलने से हरियाणा का कुछ रकबा उत्तर प्रदेश की तरफ यमुना के दूसरी पार होने की सम्भावना है, जिसमें टयूबवैल लगाने के लिए किसान बिजली कनैक्शन की मांग कर रहे हैं। यह भी बताया गया कि कुछ किसान अपने खेतों में रहने भी लगे हैं।
एक अन्य शिकायत का निपटारा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बड़खल झील में पानी लाने की योजना पर काम चल रहा है। इसके लिए सर्वेक्षण करवाया जा रहा है और इस झील में दो तरफ से पानी लाने के प्रयास हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि इससे बड़खल झील पर पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। बिल्डरों से सम्बन्धित एक शिकायत का निपटारा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले दो महीने में हरियाणा में रैरा अथाॅरिटी अस्तित्व में आ जायेगी, उसके बाद या तो बिल्डर खरीददार को पैसे वापिस लौटायेगा या उसे फ्लैट देना होगा।
उन्होंने यह भी बताया कि पंचायती राज संस्थाओं को और अधिक काम दिया जायेगा तथा उसके लिए फंड्स भी जारी किए जायेंगे। उन्होंने सरपंचों से अपील की कि वे इस धनराशि का सदुपयोग करें। मुख्यमंत्री ने कुछ ग्रामवासियों का आवाह्न किया कि वे अपनी पुरानी सहयोगी परम्परा को कायम रखते हुए पुराने नाकारा पड़े हुए जोहड़ व तालाबों को स्वयं श्रम योगदान के अन्तर्गत अपने टैªक्टरों आदि से मिट्टी लाकर भर दें ताकि इसके उपरान्त उन स्थानों पर उनके लिए सामुदायिक भवन बनाया जा सके।
मुख्यमंत्री ने लोगों की जो शिकायतों सुनी उनसे जुड़े विषयों में चकबंदी दुरूस्त करना, नलकूप की स्वीकृति, सफाई व्यवस्था, गोचरन विकास बोर्ड गठन, दिव्यांग बच्चे का निःशुल्क इलाज, बारात घर निर्माण, चैपाल, आंगनवाड़ी, लाल डोरा वृद्धि, सुरक्षा व्यवस्था, पेयजल आपूर्ति लाईन, बिजली व्यवस्था, बिजली कनैक्शन बहाली, गंदगी हटवाना, बरसाती पानी की निकासी, सड़क नामकरण, बड़खल झील सुधार, कब्जे हटवाना, रास्ता सुधारीकरण, रोजगार, सीवरेज-सफाई तथा उचित न्याय दिलवाने आदि शामिल थे। उन्होंने डबुआ सब्जी मण्डी तथा डबुआ कालोनी के पीछे खाली पड़ी जगह की सफाई करवाने के निर्देश दिए।
मनोहर लाल ने जिला के लोगों से अपील की कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में व्याप्त गंदगी को बिल्कुल भी बर्दास्त ना करें बल्कि जन सहयोग के साथ-साथ जिला प्रशासन व नगर निगम प्रशासन के अलावा अन्य किसी भी सम्बन्धित विभाग को सूचित करके गंदगी हटवायें।
मुख्यमंत्री ने जनता दरबार से पहले जिला की लगभग 170 करोड़ रूपये की लागत से पूरी होने वाली चार बड़ी परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इनके अन्तर्गत लगभग 9 करोड़ 54 लाख रूपये की लागत से सैक्टर-18 में आई.टी.आई. भवन, सवा तीन करोड़ रूपये की लागत से खेल परिसर सैक्टर-12 में खेल सुविधा केन्द्र बनेगा। लगभग 120 करोड़ रूपये की लागत से एनआईटी फरीदाबाद में बौद्ध बिहार से आई.टी.आई, आई.टी.आई. से नीलम चैक, नीलम चैक से हार्डवेयर चैक व बौद्ध विहार से हार्डवेयर चैक तक पैरिफैरी सड़क तथा 35 करोड़ रूपये की लागत से एनआईटी फरीदाबाद के दयाल बाग, शिव दुर्गा विहारख् लकड़पुर, वार्ड नं0-21 में सीवरेज सिस्टम का प्रावधान किया जायेगा।
जनता दरबार में केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राजय मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर, हरियाणा के उद्योग मंत्री विपुल गोयल, विधायक सीमा त्रिखा, मूल शर्मा व नगेन्द्र भड़ाना, नगर निगम महापौर सुमन बाला, वरिष्ठ उपमहापौर देवेन्द्र चैधरी, उपमहापौर मनमोहन गर्ग, चेयरमैन अजय गौड़, धनेष अदलखा व सुरेन्द्र तेवतिया, भाजपा जिलाध्यक्ष एडवोकेट गोपाल शर्मा, जिला परिषद के चेयरमैन विनोद चैधरी, वरिष्ठ भाजपा नेता यशवीर डागर, नयनपाल रावत, नीरा तोमर व अनिल प्रताप सिंह, उपायुक्त समीरपाल सरा, पुलिस आयुक्त डा. हनीफ कुरैशी, नगर निगमायुक्त सोनल गोयल, हुडा प्रशासक यशेन्द्र सिंह, अतिरिक्त उपायुक्त जितेन्द्र दहिया तथा डीसीपी आस्था मोदी सहित अन्य सभी सम्बन्धित अधिकारी व गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here