फर्जीवाड़ा : मान्यता 8वीं तक की, दे दिया 9वीं पास का सर्टिफिकेट

0
17

Sonipat/Alive News : राजकीय विद्यालय कुंडली द्वारा एक व्यक्ति को फर्जी सर्टीफिकेट जारी करने का सनसनीखेज खुलासा हुआ है। मामला 27 साल पुराना है। फर्जी सर्टीफिकेट का खुलासा आर.टी.आई. से मांगी गई जानकारी से मिला है। गांव कुंडली निवासी विक्रम सिंह ने बताया कि गांव नांगल कलां निवासी दरियाव सिंह ने फर्जी सर्टीफिकेट के सहारे दिल्ली में अपनी नौकरी में प्रमोशन ली थी।

विक्रम ने बताया कि उसने सर्टीफिकेट की सत्यता का पता लगाने के लिए आर.टी.आई. लगाई तो पता लगा कि कुंडली स्थित जिस स्कूल ने वर्ष 1981 में दरियाव सिंह को 9वीं पास का सर्टीफिकेट जारी किया है, उस स्कूल के पास उस समय केवल 8वीं तक की ही मान्यता थी।

वह स्कूल वर्ष 1985 में अपग्रेड होकर दसवीं तक का बना था। विक्रम ने इसकी शिकायत दिल्ली स्थित एम.सी.डी. विभाग दिल्ली को दी, जिसमें दरियाव सिंह ने फर्जी सर्टीफिकेट के सहारे प्रमोशन पाई थी। विभाग की तरफ से एक टीम जांच के लिए स्कूल पहुंची, लेकिन स्कूल मुख्याध्यापिका ने जारी सर्टीफिकेट को सही बताया और 1996 से पहले का कोई भी स्कूल रिकॉर्ड न होने की बात कही।

जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया फर्जी
विक्रम ने स्कूल मुख्याध्यापिका द्वारा स्कूल द्वारा जारी सर्टीफिकेट को सही बताने के बाद मामले की शिकायत सी.एम. विंडो पर दी। जिसकी जांच जिला शिक्षा अधिकारी को सौंपी गई। जिला शिक्षा अधिकारी ने जांच की तो पाया कि स्कूल 1985 में अपग्रेड हुआ है। ऐसे में जारी किया गया सर्टीफिकेट फर्जी है। उन्होंने जारी सर्टीफिकेट को फर्जी बताते हुए अपनी रिपोर्ट पेश कर दी।

Print Friendly, PDF & Email

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here