Faridabad/Alive News : स्वच्छ भारत और शुद्ध पर्यावरण का ढिंढोरा पीटने वाली केन्द्र और प्रदेश की भाजपा सरकार की कथनी और करनी में जमीन आसमान का अंतर है। जहां एक ओर सरकार के मंत्री जीवों और वन क्षेत्रों को बचाने की कोशिश करने का ड्रामा करते हैं, और जनता के टैक्स से आए करोडों रूपयों को फिजूल में खर्च कर देते हैं। वहीं दूसरी और शासन-प्रशासन मिलकर फरीदाबाद और गुरूग्राम की वन क्षेत्र की किसानों की जमीन को योगी से व्यापारी बने बाबा के दलाल प्रोपर्टी डीलर खुल्ले आम लूट रहे हैं।

भारतीय किसान यूनियन (अ) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौ. ऋषिपाल अम्बावता ने उक्त शब्द प्रैस को जारी एक विज्ञप्ति के माध्यम से कहे। उन्होंने एनआईटी विधानसभा के अंर्तगत आने वाले गांव पाली में बनने वाले बूचड़ खाने का घोर विरोध करते हुए कहा भाजपा सरकार व्यापारी वर्ग और अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए गांवों की शुद्ध आवों हवा को प्रदूषित करने पर तुली है।

उन्होने कहा गांव के किसानों से उनको जानकारी मिली कि हरियाणा की प्रदेश सरकार ने गांव पाली में बूचड़ खाना बनाने का निणर्य लिया है, जो बिल्कुल गलत है। यदि यह बूचड खाना बनता है, तो पाली गांव ही नहीं आस-पास कई किलो मीटर तक के गांव और कॉलोनियों की वायु प्रदूषित हो जाएगी, और मक्खियों-मच्छरों के प्रकोप से यह क्षेत्र बिमारियों का घर बन जाएगा। इसलिए वह गांव के लोगों के साथ हैं, और किसी भी हाल में इस बूचड़ खाने को नहीं बनने देंगे। उन्होने कहा यदि सरकार ने यह निर्णय वापिस नहीं लिया तो भाकियू घोर विरोध प्रदर्शन करेगी।
अम्बवता ने कहा भाजपा सरकार किसान विरोधी है, इसीलिए वह किसानों की जमीनों को हडपने का काम कर रही है।

गुरूग्राम के गांव कोट में किसानों की जमीन को पहले कौडियों के भाव व्यापारी बाबा के इशारे पर खरीदने का काम किया गया, और अब उस जमीन पर पेडों की कटाई का काम सभी नियमों को ताक पर रखकर किया जा रहा है। उन्होने कहा ग्रामीणों ने उनको जानकारी देते हुए बताया कि सरकार ने व्यापारी बाबा को दबाईयों का प्रोजेक्ट लगाने के नाम पर 500 एकड अरबों रूपए कीमत की जमीन कौडियों के दाम में दे दी है। उन्होने कहा जो किसान अपनी जमीन दे नहीं रहे थे, उन पर अनेक प्रकार के दबाव बनाए गए।

अम्बावता ने कहा अधिकारी बिना सोचे योजनाएं बनाते हैं, जिसका एक उदाहरण बंधवाडी कूडा निस्तारण प्लांट भी है, यह प्लांट वन क्षेत्र में लगा दिया गया है, जहां से आने वाली अशुद्ध हवा गुरूग्राम और फरीदाबाद दोनों शहरों के लोगों को बीमार कर रही है। यहां के नजदीकी गांव कोट, पाली, धौज, मांगर व अन्य गांवों में कैंसर और दमा जैसी जानलेवा बीमारी तेजी से फैल रही है। उन्होने कहा इस प्लांट को भी यहां से हटाकर किसी आवादी रहित क्षेत्र में शिफ्ट किया जाना चाहिए।
अम्बावता ने कहा यह वन क्षेत्र पर्वत माला है, जहां अनेक जीव जंतू रहते हैं। ग्रामीण अपने पशुओं को चराते हैं। वन क्षेत्र में लगे पेड-पौधे वायु मंडल को शुद्ध करते हंै, मगर भाजपा सरकार के मंत्री व नेता चुनाव में वायदे जनता की भलाई के करते हैं, और काम व्यापारियों के लिए करते हैं। उन्होने कहा वन क्षेत्र में पेडों की अवैध कटाई तुरंत रोककर किसानों की जमीन पर अवैध कब्जे करने का काम रोका जाए, और पाली बूचड खाना तथा बंधवाडी कूडा निस्तारण प्लांट को कही और शहर से दूर लगाया जाए। यदि सरकार ने जनता की मांग नहीं मानी तो भारतीय किसान यूनियन प्रदेश स्तरीय किसान आंदोलन करेगी। उन्होने कहा इस संबंध में लिखित शिकायत देश के प्रधानंमत्री माननीय नरेन्द्र मोदी, सीएम हरियाणा मनोहर लाल और जिला फरीदाबाद उपायुक्त को भेज दी गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here