New Delhi/Alive News : पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन को लगभग एक हफ्ता हो गया है. जिसके बाद उनके कई शहरों में उनकी अस्थि कलश यात्रा निकाली जा रही है. आज पूर्व प्रधानमंत्री की अस्थि कलश यात्रा को चार राज्यों में निकाला जाएगा. मंगलवार को पटना, रांची, भोपाल और रायपुर में अस्थियों को प्रवाहित किया जाएगा.

बिहार के पटना में जब अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां प्रवाहित होंगी. इस दौरान बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी समेत कई अन्य नेता भी मौजूद रहेंगे. वहीं भोपाल में भी इसी प्रकार का कार्यक्रम रखा गया है, जिसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मौजूद रहेंगे.

आपको बता दें कि 19 अगस्त को उत्तराखंड के हरिद्वार में अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियों को प्रवाहित किया गया था. इस दौरान भारतीय जनता पार्टी के अमित शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत कई बड़े नेता मौजूद रहे थे.

चीन के प्रधानमंत्री ने दी श्रद्धांजलि

इस बीच चीन के प्रधानमंत्री ली क्यांग ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को एक ‘शानदार नेता’ करार देते हुए उनके निधन पर शोक जताया. चीनी प्रधानमंत्री के अनुसार वाजपेयी ने भारत-चीन संबंधों के विकास की दिशा में उल्लेखनीय काम किया.भारत के सबसे करिश्माई नेताओं और शानदार वक्ताओं में से एक वाजपेयी का 16 अगस्त को 93 साल की आयु में निधन हो गया था. ली ने 17 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कहा, “मैं भारतीय गणराज्य के पूर्व प्रधानमंत्री ए बी वाजपेयी के निधन से दुखी हूं.” भारतीय दूतावास ने ली के अनुदित पत्र को ट्वीट किया.

उन्होंने कहा, “चीन की सरकार और लोगों की तरफ से मैं शोक-संतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदना और सहानुभूति प्रकट करता हूं.” चीन के प्रधानमंत्री ने कहा, “वाजपेयी एक शानदार नेता थे, जिन्होंने राष्ट्रीय और सामाजिक विकास के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया और भारतीय लोगों का सम्मान हासिल किया.”

उन्होंने कहा कि अपने प्रधानमंत्री काल में वाजपेयी ने 2003 में चीन की यात्रा की. ली ने कहा कि वाजपेयी ने भारत-चीन संबंधों के विकास में उल्लेखनीय काम किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here