प्रोफेसर ज्योति राणा की नारी शक्ति को समर्पित चार पुस्तकों का हुआ लोकार्पण

0
77

Faridabad/Alive News : विवेकानन्द जयन्ती के अवसर पर डीएवी शताब्दी कॉलेज की प्रोफेसर डॉ. ज्योति राणा की तीन हिन्दी पुस्तकों “तुम तो हो जिंदगी”, “फेस बुक की तरह”, “एहसास बने अल्फाज़” एवं एक अंग्रेजी पुस्तक – “द रीलायम ऑफ़ मेमोरीज” का लोकार्पण सेक्टर-21 स्थित पार्क प्लाजा में किया गया |

पुस्तक का लोकार्पण अतुल कोठारी महासचिव शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास एवं पुलिस आयुक्त डॉ. हनीफ कुरैशी और कई गणमान्य लोग उपस्थित थे | डॉ. राणा ने ये कवितायें मुक्त प्रवाह में लिखी हैं जो कि नारी शक्ति को समर्पित हैं। सभी कविताएँ नारी की संवेदनाओं को बखूबी दर्शाती हैं।

डॉ. राणा के अनुसार कविताओं में कहीं नारी की पीड़ा है तो कहीं स्वाभिमान, कहीं उसका प्रेम है तो कहीं उसका त्याग। कहीं माँ का स्वरूप है तो कहीं बेटी की व्यथा।

पुस्तकों की भूमिका पांडेचेरी की उप राज्य्पाल डॉ. किरन बेदी, प्रसिद्ध गीतकार संतोषानंद, प्रसिद्ध कवि एवं साहित्यकार दिनेश रघुवंशी, प्रख्यात शायर अब्दुल रहमान मंसूर, प्रख्यात शायर श्रीमती मीनाक्षी जीजीविषा झायरा लिखी है।

इस मौके पर सूचना आयुक्त भारत सरकार बिमल जुल्का, पुलिस आयुक्त फरीदाबाद डॉ. हनीफ कुरैशी, चेयरमैन राष्ट्रीय पशुधन विकास बोर्ड भारत सरकार एस पी गुप्ता, प्रबन्ध निदेशक केन्द्रीय भण्डारण निगम भारत सरकार जे. एस. कौशल, प्रबन्ध निदेशक मैट्रो अस्पताल फरीदाबाद डॉ. एस एस बंसल, प्रिंसीपल डीएवी शताब्दी महाविद्यालय फरीदाबाद डॉ. सतीश आहूजा उपस्थित थे |

Print Friendly, PDF & Email