Faridabad/Alive News : गढ़वाल सभा रजि के कार्यालय एनआईटी-2 में आज भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर श्रृद्धाजंलि सभा का आयोजन किया गया। जिसमें समस्त गढ़वाल सभा के पदाधिकारियों ने स्व. अटल बिहारी वाजपेयी जी को श्रृद्धासुमन फुल अर्पित कर दो मिनट का मौन रखकर उन्हें अपनी भावभीनी श्रृद्धाजंलि अर्पित की।
इस मौके पर गढवाल सभा के अध्यक्ष श्री देव ङ्क्षसह गुंसाई ने कहा कि अटलजी अपने प्रारंभिक जीवन में ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सम्पर्क में आ गए थे। भारत छोड़ो आन्दोलन में इन्होने भी भाग लिया और 24 दिन तक कारावास में रहे। इन्होने पत्रकारिता के क्षेत्र में विशिष्ट ख्याति प्राप्त की। अटलजी ने अनेक पुस्तकों की रचना की।
अटलजी एक कुशल वक्ता थे। उनके बोलने का ढंग बिलकुल निराला था। पत्रकारिता से अटलजी ने राजनीति में प्रवेश किया। आज वह हमारे बीच में नहीं है परतु उनके बताये हुए दिशा निर्देशों पर हमें सदैव चलकर इस देश को आगे बढ़ाना है यही हमारी उनको सच्ची श्रृद्धाजंलि होगी।
इस अवसर पर महासचिव सुरेन्द्र रावत, कोषाध्यक्ष योगेश बुढाकोटि, सचिव विनोद नोटियाल, दिग्विजय सिंह रणावत, एम.एस.असवाल, लोकेन्द्र बिष्ठ लुक्की, ओ.पी.गोड, सहित अन्य गढ़वाल समाज के गणमान्य लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here