घर के बाहर आफत ,घर के अंदर राहत

0
43

Faridabad/Alive News: बढ़ती गर्मी के कारण मनुष्य ही नहीं जीव-जंतु भी प्रभावित हो रहे हैं. पारा लगातार बढ़ता जा रहा है. मौसम विभाग की और से बारिश की कोई सूचना नहीं दी जा रही है किसानो को खरीफ की फसल सूखने की चिंता सता रही है तो दूसरी और तापमान बढ़ने के कारण जंगलो में जंगली जानवर के प्रभावित होने की खबरें मिल रही हैं. दिल्ली एनसीआर में पारा 48 डिग्री तक नोट किया गया है, हालांकि, मंगलवार को तेज़ हवा और आसमान में बादल होने से तापमान में कमी नोट की गयी है.

लोगो का घर से निकलना हो रहा मुश्किल :
जैसे जैसे तापमान बढ़ता जा रहा है लोगो का 9 बजे के बाद घर से निकलना मुश्किल हो जाताहै क्यूंकि गर्म हवाओ के थपेड़े और सूर्य की तपन /तेज़ आग स्किन को जला देता है. ऐसे में लोग सुबह 4 बजे से ही लोग बाहर के अपने काम 9 बजे से पहले ही ख़त्म कर लेते हैं. जोलोग नौकरीपेशा हैं वह भी अपने समय से निकलकर अपने रोज़गार/ नौकरी पर पहुँच रहे हैं.

अरावली की पहाड़ियों में जंगली जानवर भटक रहे हैं प्यासे:
फरीदाबाद के साथ सटी अरावली का जंगल जिसमे सैकड़ों की तादात में पशु-पक्षी और जानवर हैं जो अधिक गर्मी होने के कारण जलाशयों का पानी सोहने के बाद भटकते हुए आबादी मैं नज़र आए हैं क्योंकी फारेस्ट विभाग द्वारा जंगली जानवरों के पीने के पानी की व्यवस्था नहीं की गयी है जिसकी वजह से भीषण गर्मी में जंगल के पशु पक्षी प्रभावित हो रहे हैं.

बढ़ती गर्मी से किसान के माथे पर चिंता की लकीर:
इस गर्मी ने किसान को एक बार फिर चिंतित कर दिए है की अगर फसल को समय पर पानी नहीं मिला तो वह जलकर नष्ट हो जाएगी इस समय किसान के पास कपास के इलावा इस मौसम में लगाए जाने वाली फसल को बार बार पानी की आवश्यकता खर्चा तो बढ़ा ही रही है बल्कि पानी न देने पर फसल जलने का खतरा भी रहता है.
हरयाणा सरकार के धान की रुपआयी पर रोक का कारण भीषण गर्मी है क्योंकि हरयाणा में भूमिगत जल का स्तर काफी हद तक नीचे जा चुका इसलिए सरकार ने बारिश में धान रुपए के लिए सभी किसानो को अनुरोध किया है..

आज का तापमान 41 नोट किया गया है.

Print Friendly, PDF & Email

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here