गिफ्ट ने बडखल का दौरा कर बदहाली पर जताया खेद

0
277

Faridabad/Alive news: ग्रीन इंडिया फाउंडेशन ट्रस्ट (गिफ्ट) के अध्यक्ष डॉ जगदीश चौधरी व 45 सदस्यी प्रतिनिधिमंडल ने बडखल का दौरा कर स्थितियों का जायजा लिया तथा खेद व्यक्त करते हुए कहा, कि हम फ़रीदाबादवासियों, कुछ लोगोंं के आर्बिक लालच और राजनैतिक व प्रशासनिक उलझनों के कारण आज बडखल की ये दशा है प्रतिनिधिमंडल से मिलने के लिए बडखल विधायिका सीमा त्रिखा भी वहां पहुंची और उन्होंने बडखल झील पर चल रहे कार्य के बारे में विस्तार से बताया उनके साथ स्मार्ट सिटी पर काम कर रहे अरविन्द गुप्ता सहित बडखल झील को विकसित करने के लिए काम कर रहे अधिकारीयों ने भी प्रतिनिधि मंडल से मुलाकात कर झील पर चल रहे कार्य के बारे में से बताया।

जगदीश चौधरी ने कहा कि कहा कि पिछले वर्ष उन्होने सितम्बर माह में बडखल के सन्दर्भ में सामाजिक जन चेतना रैली व जून 2018 में दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन का आयोजन कर बडखल को पुनर विकसित करने के समाधान ढूंढे, जिससे बडखल अपने पुराने गौरव व सुन्दरता को प्राप्त कर पानीदार बन सके। इस हेतु ग्रीन इंडिया फाउंडेशन ट्रस्ट ने एस डी एम बल्लभगढ को जिलाधीश के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा, जिसमें बडखल पर बिना एक भी सरकारी रूपया खर्च किए केवल पांच वर्षों में प्राकृ तिक रूप से बडखल को जल से भरा जा सके और ऐसी व्यवस्था की सके कि जो स्थाई हो और यहां के वनस्पति व जीव जगत के लिए सहजता का सूत्र हो। यह प्रवासी पक्षियों को भी अपनी ओर आकर्षित कर सकेगी साथ ही साथ फरीदाबाद जल स्त्रोतों को भरने का काम भी करेगी।

डॉ जगदीश चौधरी ने बताया कि अब फरीदाबाद बेपानी हो जाएगा। इसलिए हम सभी की ये जिम्मेवारी है कि हम न केवल वर्षा का जल का संरक्षण करें बल्कि जल व्यर्थता से भी बचें इसके साथ ही साथ सभी जलदूत का कार्य करें। इस अवसर पर उपस्थित आचार्य चेतन प्रकाश, ईशु जैन, अरविंद गुप्ता आदि ने अपने विचार रखे और व्यवहारिक रूप से बडखल के सभी पहलुओं पर चर्चा की। बडखल की वर्तमान दशा के कारण व निवारण पर प्रयोग करके दिखाया।

क्या कहना है बडखल विधायिका सीमा त्रिखा का

बडखल झील सरकार का एजेंडा है। उसे पूरा करने का काम सरकार और अधिकारिओं का है। बडखल झील को पुनर विकसित करने का प्रोजेक्ट शुरु हो चुका जिसकी डेडलाइन 2020 दी गयी है।

-सीमा त्रिखा, विधायिका बडखल.

Print Friendly, PDF & Email