धमकी से परेशान परिजनों की कही नहीं हो रही सुनवाई

Faridabad/ Alive News: एक तरफ हरियाणा सरकार ने नाबालिग लड़कियों के साथ रेप होने पर फांसी की सजा के लिए विधेयक पास किया है. दूसरी ओर फरीदाबाद में नाबालिग अपराध पर शिकायत देने के बावजूद भी पुलिस अपराधी के खिलाफ कोई कानूनी कार्यवाही करने के लिए तैयार नहीं है. एक नाबालिग लड़की की माँ अपनी बच्ची को सरफिरे आशिक़ से बचने के लिए महिला थाना और संबंधित थाने पहुँचती है, लेकिन उसके शिकायत को न तो महिला थाने में लिया जाता है और न ही संबंधित थाने में लिया जाता है. क्योंकि महिला गरीब है और अपने बच्चों के साथ बड़खल कालोनी में किराये के माकन में मेहनत- मजदूरी करके पालन पोषण कर रही है. ऐसी स्थिति में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली सरकार महिला सुरक्षा पर कानून बनाने के अलावा कानून लागू कराने में ज्यादा ध्यान देती तो अच्छा होता। क्योंकि कानून की पालना करने वाले ही कानून को तोड़ रहे हैं तो ऐसी स्थिति में महिला सुरक्षा और नाबालिग विधेयक पारित करने के क्या मायने रह जाते हैं?

नाबालिग विधेयक पास होने से पुलिस की फीस (भ्रष्टाचार) कई गुना जरूर बढ़ रहा है. नाबालिग छात्रा के मामले में पुलिस ने युवक के खिलाफ करीब एक वर्ष बीतने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं की है. उक्त थानों द्वारा शिकायत न लेने के बाद पीड़ित 14 वर्षीय नाबालिग छात्रा ने युवक से तंग आकर एनआईटी डीसीपी को 15 मार्च 2018 को शिकायत दी जिसमे कहा कि वह कक्षा-6 में एक निजी स्कूल में पढ़ती है. छात्रा के पिता इरफ़ान और फूफी महरून निशा ने हमारे संवादाता से बताया कि युवक बिजनौर का निवासी है. वह अपने बहन के घर बड़खल कॉलोनी में रहता है. युवक ने छात्रा को पिछले करीब एक वर्ष से परेशान किया हुआ है. वह स्कूल जाते समय छात्रा पर जबरन शादी के लिए दबाव बना रहा है, इतना ही नहीं युवक ने अपने परिवार के लोगों को उनके घर भेज कर शादी करने का प्रस्ताव भेजवाया तथा शादी से इंकार करने पर पीड़ित परिवार को युवक अपहण कराने और तेजाब फेकने की धमकी दे रहा है. बात यहीं तक नहीं है पीड़ित परिवार ने बताया कि युवक कुछ दिनों से लड़की की फोटो फेसबुक पर डाल रहा है जिससे लड़की काफी तनाव में है.

क्या कहना है डीसीपी एनआईटी का
उनको लड़की की शिकायत मिल चुकी है, शिकायत को संबंधित चौकी में कार्यवाही के लिए भेजा जा चूका है. हो सकता है मामले में युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो चूका है. सवाल के जवाब में कहा कि अगर नाबालिग के मामले में किसी भी तरह की चौकी इंचार्ज ने लापरवाही बरती है तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायगी

आईपीएस कृतपाल, डीसीपी एनआईटी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here