New Delhi/Alive News : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 12वीं का केमिस्ट्री का पेपर लीक होने की चर्चा के बाद गुरुवार को इसी कक्षा का एकाउंटेंसी का पेपर लीक होने की शिकायत दिल्ली के उपमुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया मिली है। उन्होंने जांच के आदेश दिए हैं। वहीं, सीबीएसई ने बयान जारी कर पेपर लीक होने से इन्कार किया है। सीबीएसई का कहना है कि शरारती तत्वों ने यह अफवाह फैलाई है और उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई जाएगी।

मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा कि सीबीएसई की 12वीं का पेपर लीक होने के बारे में शिकायत मिली है। शिक्षा निदेशालय के अधिकारियों को मामले की जांच करने और शिकायत दर्ज करने को कहा गया है। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

गुरुवार सुबह दस बजे से ही वाट्सएप पर एकाउंटेंसी के प्रश्नपत्र की कॉपी शेयर करने की बात कही जा रही थी, जबकि परीक्षा साढ़े दस से डेढ़ बजे तक थी। सूत्रों के अनुसार, वाट्सएप पर शेयर की जा रही कॉपी व परीक्षा में आए पेपर में से लगभग आठ सवाल मिल रहे थे, लेकिन सीबीएसई ने स्पष्ट किया है कि एकाउंटेंसी का पेपर लीक नहीं हुआ है। सभी केंद्रों पर सील प्रश्नपत्र थे। स्थानीय स्तर पर कुछ शरारती लोग वाट्सएप व अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से इस तरह का दुष्प्रचार कर रहे हैं। सीबीएसई ने ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ा कदम उठाने का निर्णय लिया है, उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई जाएगी।

दिनभर रही ऊहापोह की स्थिति

राजधानी में प्रश्नपत्र लीक होने को लेकर दिनभर ऊहापोह की स्थिति रही। इस मामले में बाहरी दिल्ली के दो स्कूलों में भी पुलिस द्वारा जांच किए जाने की सूचना आई, लेकिन पुलिस उपायुक्त रोहिणी जिला रजनीश गुप्ता और पुलिस उपायुक्त बाहरी जिला एमएन तिवारी के अनुसार, उन्हें पेपर लीक की कोई शिकायत नहीं मिली, इसलिए जांच का प्रश्न नहीं उठता है। खबर लिखे जाने तक शिक्षा निदेशालय की ओर से जांच रिपोर्ट नहीं मिली थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here