Chandigarh/Alive News : वित्तीय प्रबंधन के लिए हरियाणा सरकार के वित्त विभाग द्वारा विभिन्न विभागों को दिए जाने वाले अनुदान के ऑनलाइन पोर्टल का बुधवार को शुभारंभ हुआ। हरियाणा के वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने बताया कि हरियाणा देश का पहला राज्य बन गया है जिसने यह अनूठी पहल की है।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत 84.58 करोड़ रुपए का ऑनलाइन ट्रांजक्शन कर इसकी शुरुवात की और इस ट्रांजेक्शन की प्रति स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आरआर जॉवल व मिशन निदेशक अमनीत पी कुमार को सौंपी। उन्होंने बताया कि अब सभी विभागों को अपने लेन-देन का केवल एक ही बैंक खाता रखना होगा। वित्त मंत्री ने स्मरण करवाया कि वित्त वर्ष 2018-19 के बजट भाषण में भी उन्होंने इस बात का उल्लेख किया था कि सभी विभागों को सरकारी निधि अपने एक ही खाते में रखनी जरूरी होगी।

उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार ने राज्यों को स्मार्ट सिटी फंड के लेन-देन के लिए अलग से बैंक खाता खोलने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि वित्त विभाग ने विभिन्न विभागों, बोर्डों, निगमों और स्वायत निकायों के बैंक खातों की जानकारी एकत्रित करने का काम शुरू कर दिया है। सभी आहरण एवं वितरण अधिकारियों को (डीडीओ) को निर्धारित प्रारूप में यह जानकारी देने के निर्देश दिए गए हैं।

इसके अलावा, सभी खजाना अधिकारियों को भी व्यक्तिगत रूप से डीडीओ से इस जानकारी को एकत्रित करने को कहा गया है। इस काम में स्थानीय लेखापरीक्षा विभाग का भी सहयोग लिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अब तक 257 इकाइयों के बैंक खातों में करीब 7530 करोड़ रुपए की राशि की जानकारी वित्त विभाग को मिली है।

वित्त मंत्री ने ऑनलाइन पोर्टल तैयार करने के लिए राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र के अधिकारियों और वित्त विभाग की पूरी टीम को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उनकी कड़ी मेहनत की सराहना भी की। इस अवसर पर वित्त विभाग के प्रधान सचिव टीवीएसएम प्रसाद ने ऑनलाइन ट्रांजक्शन पर एक प्रस्तुतिकरण भी दिया। उन्होंने बताया कि राज्य के 9300 आहरण एवं वितरण अधिकारियों, लगभग 105 खजाना एवं सहायक खजाना अधिकारियों को विशेष प्रशिक्षण दिया गया है और आज से विभिन्न, विभागो, बोर्डों व निगमों के लगभग 50 हजार बैंक खाते ऑनलाइन हो जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here