हरियाणा कौशल विकास मिशन के प्रशिक्षण भागीदारों के लिए किया गया संगोष्ठी का आयोजन

0
59

Gurugram/Alive News: श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय (एसवीएसयू) ने गुरुग्राम के सेक्टर 44 में अपने ट्रांजिट परिसर में आज हरियाणा कौशल विकास मिशन (एचएसडीएम) के प्रशिक्षण भागीदारों के लिए एक संगोष्ठी का आयोजन किया।

सेमिनार में राज्य भर से एचएसडीएम के प्रशिक्षण भागीदारों ने भाग लिया, इसका उदेश्य विश्वविद्यालय के कई स्नातक और स्नातकोत्तर कार्यक्रमों में आवेदन पत्र ऑनलाइन जमा करने के लिए विशेष सुविधा उपलब्ध करवाना रहा।

वर्तमान में विश्वविद्यालय में बैचलर ऑफ वोकेशन (B.Voc), डिप्लोमा इन वोकेशन (D.Voc) और डिप्लोमा कार्यक्रम शुरू हो रहे हैं। इन कार्यक्रमों के लिए प्रवेश 25 जून को बंद हो जाएगा, जिसके बाद स्नातकोत्तर कार्यक्रमों में प्रवेश, जैसे मास्टर ऑफ वोकेशन (M.Voc) शुरू हो जाएंगे।

इस अवसर पर, एसवीएसयू के संयुक्त निदेशक डॉ राज सिंह अंतिल ने कहा कि ग्रामीण भारत में कौशल को अपना भविष्य बनाने का सपना संजोने वाले युवाओं के लिए ये एक विशेष अवसर है और प्रदेश के कोने कोने में विद्यमान प्रशिक्षण केंद्र इसमें मुख्य भूमिका निभा सकते है।

प्रो (डॉ) आरएस राठौर, डीन एकेडमिक्स, एसवीएसयू, ने प्रतिभागियों को विश्वविद्यालय द्वारा अपनाए जा रहे पाठ्यक्रम की मुख्य विशेषताओं और राष्ट्रीय कौशल को ध्यान में रखते हुए विभिन्न कौशल-आधारित कार्यक्रमों की रूपरेखा बनाने में किए गए प्रयासों को समझाया। एचएसडीएम में मुख्य कौशल अधिकारी, दीपक शर्मा ने विश्वविद्यालय के प्रयासों की सराहना की।

परीक्षा नियंत्रक (सीओई), सुश्री चंचल भारद्वाज ने अपने वोट ऑफ थैंक्स को व्यक्त करते हुए कहा कि माननीय कुलपति राज नेहरू के विशेष नेतृत्व में कौशल विश्वविद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित कर रहा है और इसे छात्रों के लिए रुचिकर व लर्निंग ओरिएंटेड बनाने की दिशा में विशेष कदम उठा रहा है लेकिन नई शिक्षण पद्धति जिसमें 60 प्रतिशत व्यावहारिक शिक्षा और केवल 40 प्रतिशत सैद्धांतिक घटक शामिल।

Print Friendly, PDF & Email