बेरोजगारी में हरियाणा टॉप- 5 में हुआ शुमार

0
129
Sponsored Advertisement

Faridabad/Alive News: देश में नोटबंदी के बाद एक बार फिर बेरोजगारी का संकट गहरा रहा है। इस संकट से देश का कोई भी राज्य अछूता नहीं है। अगर बेरोजगारी के अनुपात की बात की जाए तो हरियाणा देश भर में 35.7 प्रतिशत बेरोजगारी के साथ पांचवे नंबर पर है।

इसके अलावा झारखण्ड 59.2 प्रतिशत बेरोजगारी के अनुपात के साथ पहले नंबर पर है, पुंडुचेरी 58.2 प्रतिशत के साथ दूसरे नंबर पर है, तीसरे नंबर पर 46.2 प्रतिशत बेरोजगारी के साथ बिहार है तथा चौथे नंबर पर राजधानी दिल्ली 44.9 प्रतिशत बेरोजगारी के साथ आती है। ये अनुपात भारत की बेरोजगारी का सर्वे करने वाली कंपनी सीएमआईई के मई 2020 तक के आंकड़ों के अनुसार है।

सीएमआईई के 12 जून तक के आंकड़ों के अनुसार भारत में बेरोजगारी अनुपात 19.2 प्रतिशत है जिसमे शहरी क्षेत्रों में 20.0 प्रतिशत तथा 18.9 प्रतिशत है। ऐसे में सरकार का बेरोजगारी से निपटना एक बड़ी चुनौती है।

एक तो कोरोना का कहर ऊपर से नौकरी जाने का खतरा इन दिनों मजदूर वर्ग की परेशानियों को दुगना कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद भी कंपनियों में से लोगों की छटनी की प्रक्रिया थम नहीं रही है। कंपनी मालिक मजदूरों को बिना कोई कारण बताए नौकरी से निकाल रहे है।

दरअसल, कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन ने देश की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ कर रख दी है। किसी भी इंडस्ट्री चाहे वो औद्योगिक इंडस्ट्री हो या आईटी इंडस्ट्री किसी भी इंडस्ट्री में प्रोडक्शन ना के बराबर है, ऐसे में कंपनी मालिक अपने कर्मचारियों को बिना किसी कारण निकाल रहे है। जिससे देश भर में बेरोजगारी की समस्या और भी ज्यादा गहरा रही है। स्थिति ये है कि लोग दाने- दाने को मोहताज है।

(ये आंकड़ा Centre for Monitoring Indian Economy (CMIE) के सर्वे के अनुसार है।)

Print Friendly, PDF & Email