हरियाणा में ग्रुप ‘सी’ व ‘डी’ के पदों के लिए नही देना होगा इंटरव्यू

0
55

Chandigarh/Alive News : हरियाणा में ग्रुप सी व डी के पदों के लिए केवल लिखित परीक्षा होगी और अब इंटरव्यू की प्रथा बंद हो जाएगी। अधिसूचना के अनुसार ग्रुप सी व डी के पदों पर चयन के संबंध में परीक्षा के कुल अंक 100 होंगे, जिनमें 90 अंकों की लिखित परीक्षा और सामाजिक-आर्थिक मानदण्ड तथा अनुभव के 10 अंक शामिल हैं। यदि आवेदक के पिता, माता, पति-पत्नी, भाई, बहनों, बेटों और बेटियों में से कोई भी व्यक्ति हरियाणा सरकार या किसी अन्य राज्य सरकार या भारत सरकार के किसी भी विभाग, बोर्ड, निगम, कम्पनी, वैधानिक निकाय, आयोग और प्राधिकरण में नियमित कर्मचारी नहीं है, तो इसके लिए 5 अंक निर्धारित किए गए हैं।

इसी प्रकार, अनाथ, विधवा के सम्बन्ध में यदि आवेदक एक विधवा है या यदि आवेदक प्रथम या द्वितीय बालक है और उसके पिता की मृत्यु 42 वर्ष पूरी होने से पहले हो गई हो, यदि आवेदक प्रथम या द्वितीय बालक है और आवेदक के 15 वर्ष की आयु पूरी होने से पहले उसके पिता की मृत्यु हो गई हो, तो इसके लिए 5 अंक निर्धारित किए गए हैं। इसके अतिरिक्त, यदि आवेदक ऐसी अनअधिसूचित जनजाति (विमुक्त जाति और टपरीवास जाति) या हरियाणा के घुमंतू जनजाति से सम्बन्धित है, जो न तो अनुसूचित जाति है और न ही पिछड़ा वर्ग है, के सम्बन्ध में 5 अंक निर्धारित हैं तथा हरियाणा सरकार के किसी भी विभाग, बोर्ड, निगम, कम्पनी, वैधानिक निकाय, आयोग और प्राधिकरण में अधिकतम 10 वर्ष में से अनुभव के प्रत्येक एक वर्ष या 6 मास से अधिक के उसके भाग के लिए आधा 0.5) अंक। 6 मास से कम की किसी अवधि के लिए कोई भी अंक नहीं दिया जाएगा।

इसके लिए अधिकतम 5 अंक आबंटित किए गए हैं। किसी भी आवेदक को किसी भी परिस्थिति में 10 अंकों से अधिक अंक नहीं दिए जाएंगे और लिपिक के पद के लिए कम्प्यूटर एपरीशिएशन तथा एप्लीकेशन में राज्य पात्रता परीक्षा अनिवार्य होगी। विद्यालय शिक्षा विभाग में अध्यापक, शैक्षिक निरीक्षक तथा अध्यापक शिक्षक के पदों के लिए आयोग केवल लिखित परीक्षा के आधार पर ग्रुप बी और ग्रुप सी से सम्बन्धित उम्मीदवारों का चयन करेगा और नामों की सिफारिश करेगा।

लिखित परीक्षा को दो भागों में विभाजित किया गया है, जिसमें सामान्य ज्ञान, विवेक बुद्धि, गणित, विज्ञान, अंग्रेजी, हिंदी तथा यथालागू सम्बद्ध या सुसंगत विषय के लिए 75 प्रतिशत अधिमान तथा हरियाणा के इतिहास, सामायिक वर्तमान मामले, साहित्य, भूगोल, नागरिक शास्त्र, पर्यावरण, संस्कृति इत्यादि के लिए 25 प्रतिशत अधिमान होगा। इसी प्रकार, इसे अर्हक करने के लिए उम्मीदवारों को कम से कम 50 प्रतिशत अंक लेने होंगे और प्रश्नों का अनुपात आयोग द्वारा उसके अपने स्तर पर विनिश्चित किया जाएगा।

Print Friendly, PDF & Email

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here