दिवाली से पहले और बाद के 12 घंटों में कैसे बदल गई हवा

0
5

New Delhi/Alive News : दिवाली पर दिल्ली की हवा बुधवार की रात ‘बेहद खराब’ की श्रेणी में दर्ज की गई. राष्ट्रीय राजधानी के कई इलाकों में लोगों ने रात आठ से दस बजे के बीच पटाखे फोड़ने के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन किया. दिल्ली में बुधवार रात दस बजे एयर क्वॉलिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 296 दर्ज किया गया.

बुधवार की सुबह लोधी रोड में पीएम 2.5 का स्तर 228 था और पीएम 10 232 दर्ज किया गया. जबकि गुरुवार सुबह लोधी रोड में पीएम 2.5 भी 500 और पीएम 10 भी 500 दर्ज किया गया. एक्यूआई के मुताबिक, गुरुवार को आनंद विहार में प्रदूषण का स्तर 999, अमेरिकी राजदूतावास, चाणक्यपुरी में 459 और मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम में एक्यूआई 999 रहा. प्रदूषण का यह स्तर ‘खतरनाक’ श्रेणी में आता है.

एक्यूआई के मुताबिक, लोधी रोड इलाके में पीएम2.5 और पीएम10 का स्तर 500 दर्ज किया गया. मेजर ध्यानचंद स्टेडियम (इंडिया गेट) के आसपास पीएम 2.5 का स्तर सामान्य से 30 गुना ज्यादा और पीएम 10 का स्तर 20 गुना ज्यादा दर्ज किया गया. यह वीवीआईपी इलाका है जहां राष्ट्रपति भवन, संसद और कई हाई प्रोफाइल लोगों के आवास हैं.

वजीरपुर में 2.5 का स्तर 18 गुना और पीएम 10 12 गुना ज्यादा दर्ज किया गया. इसी तरह जहांगीरपुरी में 2.5 17 गुना और पीएम 10 12 गुना ज्यादा दर्ज किया गया. आरकेपुरम में 2.5 अभी भी 11 गुना ज्यादा और पीएम 10 8 गुना ज्यादा बना हुआ है.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार शाम सात बजे एक्यूआई 281 था. रात आठ बजे यह बढ़कर 291 और रात नौ बजे यह 294 हो गया. हालांकि, केंद्र की ओर से चलाए जा रहे सिस्टम ऑफ एयर क्वॉलिटी फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) ने एक्यूआई 319 दर्ज किया जो ‘बेहद खराब’ की श्रेणी में आता है.

एनसीआर
गाजियाबाद-2.5-360 (बेहद खराब), पीएम 10-258 (खराब)
फरीदाबाद-पीएम2.5-374 (बेहद खराब), पीएम 10-एनए
नोएडा-पीएम 2.5-373 (बेहद खराब)
पीएम 10-292 (खराब)
गुरुग्राम-पीएम 2.5-323 (बेहद खराब)
पीएम 10-एनए

सुप्रीम कोर्ट के आदेश की उड़ी धज्जियां
सुप्रीम कोर्ट ने दिवाली और अन्य त्योहारों के मौके पर रात आठ से 10 बजे के बीच ही फटाखे फोड़ने की इजाजत दी थी. कोर्ट ने सिर्फ ‘ग्रीन पटाखों’ के निर्माण और बिक्री की इजाजत दी थी. ग्रीन पटाखों से कम प्रकाश और आवाज निकलती है और इसमें कम हानिकारक केमिकल होते हैं. कोर्ट ने पुलिस से इस बात को तय करने को कहा था कि प्रतिबंधित पटाखों की बिक्री नहीं हो और किसी भी उल्लंघन की स्थिति में संबंधित थाना के एसएचओ को जिम्मेदार ठहराया जाएगा और यह अदालत की अवमानना होगी.

आनंद विहार, आईटीओ और जहांगीरपुरी समेत कई इलाकों में प्रदूषण का बेहद उच्च स्तर दर्ज किया गया. मयूर विहार एक्सटेंशन, लाजपत नगर, लुटियंस दिल्ली, आईपी एक्सटेंशन, द्वारका, नोएडा सेक्टर 78 समेत अन्य स्थानों से कोर्ट के आदेश का उल्लंघन किए जाने की सूचना मिली. शहर में ‘खराब’ और ‘बेहद खराब’ हवा की क्वॉलिटी का संकेत दिया. रात आठ बजे के करीब पीएम 2.5 और पीएम 10 के स्तर में तेजी से वृद्धि हुई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here