सेक्टर-56 ए में हुडा अधिकारियों की दादागिरी, एकमात्र रास्ते को किया बंद

0
73

Ballabgarh/Alive News : सेक्टर-56 व 56ए के मुख्य मार्ग को हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण ने लोहे के पोल खड़े करके अवरुद्ध कर दिया है। ज्ञात रहे कि यह सेक्टर 55 व 56 को जोडऩे वाला एकमात्र रास्ता है। सेक्टर का बाहरी रोड़ किन्ही कारणों से अधूरा पड़ा हुआ है। औद्योगिक सेक्टर-25 के साथ लगती हुई गुरुग्राम कैनाल पर बना हुआ पुल कई महीने पहले टूटने से सेक्टर-56 के रास्ते से वाहन सेक्टर-25 तक पहुंच रहे हैं।

हालांकि सेक्टर-25 के पुल टूटने के बाद से ही सेक्टर-५६ के पुल पर वाहनों का दवाब ज्यादा है। सेक्टर-56 अभी पूरी तरह विकसित नहीं हुआ है। स्थानीय सेक्टर-56 की ताजा हालातों से लगभग 90 फीसदी सेक्टरवासियों ने अपने मकान नहीं बनाए हैं। इससे पहले हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण द्वारा मुख्य प्रवेश सडक़ को गाटर लगाकर अवरूद्ध कर दिया गया है, जिसके कारण मकान निर्माण कार्य के लिए सेक्टरवासियों को सामग्री लाने में काफी मसक्कत करनी पड़ रही है। ज्ञात रहे कि हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण द्वारा करीब एक माह पहले सेक्टर-55 व 56 ए को मिलाने वाली एकमात्र सडक़ को लोहे के गाटर लगाकर भारी वाहनों के लिए बंद कर दिया गया है। इतना ही नहीं सेक्टर को जोडऩे वाली सडक़ भी देनीय हालत में है।

इस सडक़ से एनआईटी और बल्लभगढ़ सहित ग्रामीण क्षेत्र के दर्जनों स्कूलों की बस और लगभग लाखों लोग गुजरते हैं। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की लापरवाही के कारण सेक्टर के बाहर से जाने वाली मुख्य मार्ग का निर्माण अधूरा पड़ा है। इसके अलावा मार्ग के साथ लगती राजीव कॉलोनी के गंदे पानी से मार्ग तालाब में तब्दील हो चुका है। ऐसे में भारी वाहनों का मार्ग से गुजरना मौत को दावत देने जैसा है। वाहनों के लिए एकमात्र रास्ता सेक्टर-56 ए ही बचा था, जिसको हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण ने बंद कर दिया है।

क्या कहना है स्थानीय लोगों का
विभाग द्वारा बेतुके कार्य करके आम जनमानस को परेशान किया जा रहा है। इस बाबत फौगाट ने अधीक्षण अभियंता एचएसवीपी से दूरभाष पर बात की तो उन्होंने इस कार्य के पीछे भारी वाहनों की आवाजाही को रोकना बताया। फौगाट ने माननीय मुख्यमंत्री हरियाणा सरकार को मेल भेजकर इस बारे अवगत कर अनुरोध कर दिया है।
सतीश फौगाट, पूर्व सदस्य, जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड फरीदाबाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here