‘मेरे लफ्जों पे मरते थे वो अब कहते हैं… मत बोलो’ : कुमार विश्‍वास

0
45

New Delhi/Alive News : आम आदमी पार्टी की तरफ से राज्‍यसभा का टिकट न मिलने और पार्टी की तरफ से दरकिनार कर दिए गए कुमार विश्‍वास का दर्द एक बार फि‍र सोमवार को इटावा में हुए एक कवि सम्‍मेलन में छलक आया. उन्‍होंने यहां इशारों-इशारों में अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए खुद को आम आदमी पार्टी का ‘आडवाणी’ बता दिया. इसके साथ ही उन्‍होंने समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव को भी अपने साथ ही सपा का ‘आडवाणी’ कह दिया.

हम दोनों केवल मुख्यमंत्री बनाने के काम आते हैं- कुमार विश्‍वास
एक चैनल के मुताबिक, श‌िवपाल स‌िंह के जन्मद‌िन पर यहां एक स्कूल में आयोजित कवि सम्मेलन में भाग लेने के लिए कुमार विश्‍वास आए थे. इस दौरान मंच पर शिवपाल यादव भी मौजूद थे. कुमार कविताएं पढ़ रहे थे और सामने बड़ी संख्या में लोग उन्हें सुन रहे थे. इसी दौरान उन्‍होंने कहा कि मैं और शिवपाल जी अपनी-अपनी पार्टी के ‘आडवाणी’ हो गए हैं. उन्होंने कहा कि हम दोनों केवल मुख्यमंत्री बनाने के काम आते हैं.

मेरे लफ्जों पे मरते थे वो अब कहते हैं… मत बोलो- कुमार का केजरीवाल पर निशाना
उन्होंने आगे दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल पर भी निशाना साधा और कहा कि ‘मेरे लफ्जों पे मरते थे वो अब कहते हैं… मत बोलो’. उन्‍होंने कहा कि ‘जिन लोगों ने पार्टी को खड़ा करने में खून-पसीना एक कर दिया नेतृत्व ने उनको पार्टी से किनारे कर दिया’.

मैं अब भी ‘नेताजी’ के साथ : शिवपाल
बता दें कि समाजवादी पार्टी (सपा) में हाशिये पर पहुंचे वरिष्ठ नेता एवं विधायक शिवपाल यादव ने नई पार्टी बनाने की अटकलों के बीच कहा था कि वह अब भी सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के साथ हैं और उनकी प्रार्थना है कि परिवार फिर से एकजुट हो. शिवपाल ने अपने जन्मदिन के मौके पर संवाददाताओं से बातचीत में नई पार्टी बनाने की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘हम नेताजी (मुलायम) के साथ हैं. नेताजी का जो आदेश होगा, हम उसका पालन करेंगे’.

उत्तर प्रदेश में लूट हो रही है- शिवपाल
शिवपाल यादव ने कहा, ‘आज भी हमारी सब लोगों से यही प्रार्थना है कि परिवार एक हो जाए. एक होकर ही हम साम्प्रदायिक शक्तियों और भ्रष्टाचार से लड़ सकते हैं’. शिवपाल ने कहा कि प्रदेश में इस वक्त बड़ी चुनौतियां हैं. पूरे प्रदेश की जनता परेशान है.. खासकर किसान और नौजवान बहुत परेशान हैं. महंगाई के साथ-साथ उत्तर प्रदेश में लूट हो रही है. भ्रष्टाचार लगातार बढ़ता जा रहा है और कहीं किसी की सुनवाई नहीं हो रही है. शिवपाल के समर्थकों ने उनका जन्मदिन ‘संघर्ष दिवस’ के रूप में मनाया.

सपा में हाशिए पर हैं शिवपाल यादव
मालूम हो कि पिछले साल सपा पर वर्चस्व की लड़ाई में अपने भतीजे अखिलेश यादव की जीत के बाद से शिवपाल पार्टी में हाशिये पर हैं. इस दौरान सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव लगातार शिवपाल के साथ खड़े दिखाई दिए. उस वक्त ऐसी अटकलें थीं कि शिवपाल मुलायम से बगैर नयी पार्टी बनाएंगे, मगर ऐसा नहीं हुआ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here