बयान आक्रामक लगा तो शर्ट की बांहें मोड़ते हुए सामने आ गए कांग्रेसी सांसद : स्मृति

0
32
Sponsored Advertisement

New Delhi/Alive News : लोकसभा में शुक्रवार को उन्नाव और तेलंगाना दुष्कर्म का मुद्दा गरमाया रहा। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस नेता अधीर रंजन के सीता मैया वाले बयान को लेकर विपक्ष पर हमला बोला। उन्होंने कहा- विपक्ष इस मुद्दे को सांप्रदायिक रंग दे रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि केरल के दो कांग्रेस सांसद आस्तीन चढ़ाकर उनकी ओर बढ़े। इसके बाद सदन में हंगामा शुरू हो गया। भाजपा ने कांग्रेस से माफी की मांग की। इस बीच, सदन सोमवार तक स्थगित कर दिया गया।

भाजपा सांसद हूं और क्या इसलिए मेरा बोलना अपराध है- स्मृति
स्मृति ने आरोप लगाया, ‘‘जब मैं सदन में बोल रही थी, तब एक कांग्रेस सांसद मुझे सबक सिखाना चाहते थे, क्योंकि उन्हें मेरा बयान आक्रामक लगा। कुछ सांसद तो मुझे सबक सिखाने के लिए बाहें मोड़ते हुए मेरे सामने आकर खड़े हो गए।’’ स्मृति ने भाषण के दौरान कहा था कि विपक्षी दल उस वक्त चुप बैठे हुए थे, जब पश्चिम बंगाल में दुष्कर्म की घटनाओं का राजनीतिक हथियार के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा था।

संसद के सामने मीडिया से बातचीत के दौरान स्मृति ने कहा, ‘‘इस घटना के बाद एक युवा कांग्रेस सांसद ने कहा कि स्मृति ईरानी इस मुद्दे पर बोली ही क्यों? मैं बेहद दुखी हूं। क्या मैं भाजपा सांसद हूं, इसलिए मेरा बोलना अपराध है। मैं सोमवार को सदन में जाऊंगी और देखूंगी कि महिलाओं के हित में बोलने पर विपक्ष मुझे किस तरह से सजा देता है।’’

भाजपा सदस्यों ने दुर्व्यवहार पर माफी की मांग की
संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने स्मृति के साथ दुर्व्यवहार का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि महिला सांसद के सामने धमकीभरे अंदाज में आकर खड़ा हो जाना गलत है। वे अपने विचार व्यक्त कर रही थीं। ऐसी व्यवहार नहीं होना चाहिए था। दोनों सांसदों को बुलाया जाना चाहिए और उन्हें माफी मांगनी चाहिए।

भाजपा सांसद संगीता कुमारी सिंह देव ने कांग्रेस सांसदों पर आरोप लगाया कि उन्होंने अपनी बांहें चढ़ा ली थीं और सामने आकर खड़े हो गए। आसंदी पर बैठी मीनाक्षी लेखी ने भी कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी से कहा कि वे पार्टी के सांसदों से माफी के संबंध में बात करें।

अधीर रंजन ने कहा- आखिर देश में चल क्या रहा है?
कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने संसद में कहा कि एक तरफ भगवान राम का मंदिर बनाया जा रहा है और दूसरी तरफ सीता मैया को आग लगाई जा रही है। उन्नाव मामले के विरोध में कांग्रेस नेताओं ने संसद से वॉकआउट किया। अधीर रंजन ने कहा- उन्नाव में दुष्कर्म पीड़ित 95% जल चुकी है, आखिर देश में चल क्या रहा है?

Print Friendly, PDF & Email