इस राज्य से भाजपा को झटका, कांग्रेस का सूपड़ा हुआ साफ

0
23

Aaizol/Alive News : मिजो नेशनल फ्रंट के चीफ और राज्य के भावी मुख्यमंत्री जोरामथंगा ने बुधवार को स्पष्ट कर दिया है कि भाजपा विधायक बुद्ध धन चकमा को अपनी कैबिनेट में शामिल नहीं करेंगे। आपको बता दें कि एमएनएफ एनडीए और नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस (एनईडीए) का घटक है। मिजोरम के विधानसभा चुनाव में एमएनएफ ने अपने दम पर पूर्ण बहुमत हासिल किया है। राज्य की 40 विधानसभा सीटों में एमएनएफ ने 26 पर जीत दर्ज की है। राज्य में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया है।

2013 में 34 सीटें जीतने वाली कांग्रेस सिर्फ 5 सीटों पर सिमट गई है। वहीं 25 साल बाद भाजपा का खाता खुला है। भाजपा ने कुल 39 उम्मीदवार खड़े किए थे लेकिन पार्टी को सिर्फ एक सीट पर जीत मिली है। बुद्ध धन चकमा विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस छोडकऱ भाजपा में शामिल हुए थे। चकमा ने सबसे ज्यादा मतों से जीत दर्ज की है। वे ललथनहवला के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं।

जोरामथंगा ने कहा, एमएनएफ ने अपने दम पर बहुमत हासिल किया है, इसलिए हम अपनी मंत्रिपरिषद गठित करेंगे। हम किसी अन्य दल के सदस्य को मंत्रिमण्डल में शामिल नहीं करेंगे। बकौल एमएनएफ चीफ, पार्टी ने अपने दम पर स्पष्ट बहुमत हासिल किया है। मिजोरम सरकार में भाजपा विधायक को जगह नहीं मिलेगी। विधानसभा चुनाव में जीत के बाद जोरामथंगा ने पार्टी नेताओं और सरकारी अधिकारियों के साथ बैठकें की। जोरामथंगा ने मंगलवार को ही सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया था।

उन्होंने राज्यपाल राजाशेखर को बताया कि 15 दिसंबर को शपथ ग्रहण समारोह रखा जाए। जोरामथंगा ने कहा, हमें 15 दिसंबर तक सरकार गठित होने की उम्मीद है। राज्यपाल शपथ ग्रहण समारोह की तारीख और समय के बारे में फैसला लेंगे। कहा जा रहा है कि जोरामथंगा शनिवार को पदभार ग्रहण करेंगे क्योंकि वह शपथ ग्रहण समारोह के स्थल और समय को लेकर राज्यपाल के फैसले का इंतजार कर रहे हैं।

Print Friendly, PDF & Email