कुरुक्षेत्र : 910 औद्योगिक इकाईयां शुरु 8484 लोगों मिलेगा रोजगार

0
18

Kurukshetra/Alive News : लॉकडाउन में मिली रियायतों से 910 औद्योगिक इकाईयों में फिर से कारोबार शुरु हो गया है। इन औद्योगिक इकाईयों के शुरु होने से 8484 लोगों को फिर से रोजगार मिल गया है। सरकार की रियायतों से कुरुक्षेत्र का औद्योगिक क्षेत्र धीरे-धीरे फिर से अपनी पटरी पर चलने लगा है। इतना ही नहीं प्रशासन ने सरकार द्वारा दी रियायतों के बाद सबसे ज्यादा 383 फूड प्रोसैसिंग यूनिट को शुरु करने की अनुमति दी ताकि लोगों को खाद्य सामग्री नियमित रुप से मिलती रहे।

सरकार के आदेशानुसार लॉकडाउन के प्रथम, द्वितीय और तृतीय चरण में उद्योगों को शुरु करने के लिए धीरे-धीरे नीतियों में कुछ बदलाव किया गया और उद्योगों को कुछ शर्तो के साथ खोलने के आदेश भी दिए गए ताकि प्रदेश के उद्योग शुरु हो सके और लोगों को फिर से रोजगार के अवसर मिल सके तथा प्रदेश की अर्थव्यवस्था भी मजबूत हो सके।

उपायुक्त धीरेन्द्र खडगटा ने वीरवार को विशेष बातचीत करते हुए कहा कि लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं वाले उद्योगों को कुछ शर्तों के साथ शुरु करने के लिए आनलाईन आवेदन करने की प्रक्रिया शुरु की थी, इस प्रक्रिया में लॉकडाउन के 3 चरणों में 910 औद्योगिक इकाईयों ने आवेदन किया और प्रशासन ने इन सभी औद्योगिक इकाईयों को कुछ शर्तो के साथ कार्य शुरु करने की अनुमति दी है।

इन 910 औद्योगिक इकाईयों के शुरु होने से 8484 लोगों को फिर से रोजगार के अवसर मिले है। इसमें सबसे ज्यादा 174 राईस मिल में 1984 लोगों को रोजगार दिया जबकि फुड प्रोसैसिंग की 383 यूनिट से 1942 लोगों को रोजगार मिला है।

किन-किन उद्योगों को मिली अनुमति
जीएम डीआईसी सुषमा बवेजा का कहना है कि लॉकडाउन के शुरुआती दौर में 724 औद्योगिक इकाईयां जिनमें कृषि से जुड़े सयंत्र बनाने वाली 26 इकाईयां, 174 राईस मिल, 52 रिपेयर एंड मैंटेनेस यूनिट, लकड़ी के फर्नीचर की 36, कम्पयूटर, फोटोस्टेट, मोबाईल सेन एंड रिपेयरिंग की 53, फूड प्रौसेसिंग की 383 इकाईयां शामिल है।
__________________

Print Friendly, PDF & Email