मेयर, निगम आयुक्त, मंडलायुक्त व प्रधान सचिव अर्बन लॉकल बॉडी को लिखा पत्र

0
12

Gurugram/Alive News: नगर निगम के 4 पार्षदों ने मेयर, नगर निगम आयुक्त, गुरुग्राम मंडलायुक्त व प्रधान सचिव अर्बन लॉकल बॉडी को पत्र लिखकर 10 दिनों के भीतर वित्त एवं संविदा कमेटी का गठन करने का आग्रह किया है। यदि ऐसा नहीं होता कमेटी के गठन के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाने की चेतावनी भी दी है।गौरतलब है कि सितंबर 2017 में नगर निगम के चुनाव हुए थे लेकिन आज तक मेयर टीम ने वित्त एवं संविदा कमेटी का गठन नहीं किया। महापौर व दो उप-महापौर द्वारा ही अब तक लगभग 200 करोड़ के 100 से अधिक प्रोजेक्टस को स्वीकृति दी जा चुकी है जो कि सीधा नगर निगम अधिनियम का उल्लंघन है।

बीते शुक्रवार को निगम पार्षद आरएस राठी, ब्रहमप्रकाश यादव, प्रवीन लता व कुलदीप यादव द्वारा मेयर एवं उक्त अधिकारियों को लिखे गए पत्र के अनुसार पिछले दो साल से लगातार वित्त एवं संविदा कमेटी के गठन का मुद्दा उठाया जा रहा है लेकिन मेयर टीम द्वारा वित्त एवं संविदा कमेटी बनाने के लिए महज आश्वासन ही दिए गए है, आज तक कमेटी के गठन के लिए प्रक्रिया तक शुरू नहीं की गई। अब तक मेयर टीम को कमेटी बनाने के लिए 10 से अधिक पत्र लिखे जा चुके है। हाल ही में सदन की एक बैठक में समिति के गठन का प्रस्ताव रखा गया लेकिन वह भी महज औपचारिकता पूरा करने के लिए।

अधिनियम के हिसाब से निगम की वित्त और संविदा कमेटी में महापौर, दो उप महापौर व दो अन्य सदस्य शामिल होते है और उपरोक्त समिति को फाइनेंस एवं कान्ट्रेक्ट देने से जुड़ी शक्तियां प्राप्त होती है। पार्षदों का आरोप है कि वित्त और संविदा समिति का गठन किए बिना ही मेयर टीम द्वारा पिछले दो सालों में अब तक 200 करोड़ से अधिक के कांट्रेक्ट अलॉट कर दिए गए है। यदि अगले 10 दिन के भीतर कमेटी के गठन की प्रक्रिया शुरू नहीं हुई तो कोर्ट का दरवाजा खटखटाने के अलावा कोई विकल्प नहीं होगी।

Print Friendly, PDF & Email