मंदसौर फायरिंग में मृत किसानों के परिवार को राहुल से मिलने को रोका

0
30

New Delhi/Alive News : मध्यप्रदेश के मंदसौर में राहुल गांधी के पहुंचने से पहले प्रशासन सतर्क हो गया है. इसी कड़ी में पिछले साल किसान आंदोलन में मारे गए परिवार वालों को राहुल गांधी से मिलने के रोकने के प्रयास तेज कर दिए हैं. गोली कांड में मारे गए अभिषेक के माता-पिता ने आरोप लगाया है कि प्रशासन उन्हें धमकी दे रहा है कि राहुल गांधी से नहीं मिले.

दरअसल, अभिषेक की मौत के बाद सरकार ने उसके भाई संदीप पाटीदार को नागपुर में चतुर्थ वर्ग के नौकरी दी है. उसे फोन पर एडीएम आर. के. वर्मा ने धमकी दी है तुम सरकारी नौकरी में हो और अगर तुम्हारे माता-पिता राहुल गांधी से मिलने गए तो तुम्हारी नौकरी भी जा सकती है.

इससे पहले अभिषेक के चाचा मधुसूदन पाटीदार को भी मंदसौर प्रशासन ने राहुल की रैली में जाने से रोकने के प्रयास किये थे. एडीएम आर के वर्मा ने फोन पर सफाई दी कि वो तो बस जानकारी ले रहे थे कि परिवार से कौन-कौन राहुल गांधी से मिलने जा रहा है. उन्हें रोकने की कोशिश नहीं हुई.

मालूम हो कि पिछले साल किसान आंदोलन के दौरान 5 लोगों की फायरिंग में मौत हो गई थी. इसमें 17 साल के अभिषेक के अलावा सत्यनारायण ,घनश्याम ,बबलू उर्फ पूनमचंद और कन्हैया लाल थे. इन सभी के परिजन किसान सभा के बैनर तले गुड़ा गांव में जुटे थे और सब ने एक साथ मांग की कि पुलिस फायरिंग के बाद जो भी किसान से सरकार ने वादे किए थे वह पूरे नहीं किए गए हैं.

बता दें कि पिछले साल हुए गोलीकांड के बाद राहुल गांधी को मंदसौर आने से रोक दिया गया था, इस वजह से इस बार राहुल गांधी इन से मिलने के लिए मंदसौर आ रहे हैं. अभिषेक की मां कहती है कि अभिषेक के लिए सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि सरकार किसानों की मांगों को पूरी करें और यही बात वो राहुल गांधी से कहेंगी .

मध्य प्रदेश में किसान आंदोलन के दौरान हुए गोलीकांड की पहली बरसी पर आज मंदसौर के खोखरा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी किसानों को संबोधित करेंगे. राहुल दोपहर करीब 12:30 बजे विशेष विमान से पहुंचेंगे.

Print Friendly, PDF & Email

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here