उत्तर पुस्तिका से छेड़छाड़ कर छात्रा को किया फेल, कार्यवाही लम्बित

0
16

Yamuna Nagar/Alive News : राजकीय आइटीआई से सिविल ड्राफ्ट्मैन ट्रेड से पढ़ाई कर रही स्नेह शर्मा का शिक्षकों की लापरवाही की वजह से एक साल बर्बाद हो गया। आखिरी सेमेस्टर की परीक्षा में उसे गणित की परीक्षा में फेल दिखा दिया। छात्र को खुद के फेल होने पर यकीन नहीं हुआ, तो उसने निदेशक को पत्र भेजकर री-चेकिंग कराई। साथ ही इस मामले में जांच कराई गई। जांच के दौरान उसकी उत्तर पुस्तिका पर 15 जगह पर टेंपरिंग मिली। जबकि उन प्रश्नों के उत्तर ठीक थे। जांच में गड़बड़ी सामने आने के बावजूद भी विभाग की ओर से किसी भी शिक्षक पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

भंभौल निवासी स्नेह शर्मा ने 2015-17 के दौरान राजकीय आइटीआइ यमुनानगर में सिविल ड्राफ्ट्समैन की ट्रेड में दाखिला लिया था। पहले तीन सेमेस्टर में उसका रिजल्ट बेहतर रहा। अगस्त 2017 में उसने फाइनल सेमेस्टर की परीक्षा दी। उसके सभी पेपर अच्छे गए, वह फेल हो गई। री-चेंकिंग में गलती पकड़ में आने के बावजूद भी छात्र को दोबारा परीक्षा देनी पड़ी। उसका एक साल बर्बाद हो गया। मामले में जांच हुई थी। जिसमें लापरवाही मिली थी। जांच रिपोर्ट निदेशक को भेज दी गई है। हालांकि इस मामले में किसी एक की लापरवाही नहीं कही जा सकती, क्योंकि उत्तर पुस्तिका कम से कम 10 कर्मचारियों के हाथों से होकर गुजरती है। जांच रिपोर्ट भेजी गई है। अब वहीं से कार्रवाई होगी –डीपी लुथरा, प्राचार्य, राजकीय आइटीआइ, यमुनानगर।

जांच में हुई टेंपरिंग की पुष्टि
स्नेह के पिता संतोष कुमार ने बताया कि री-चेकिंग में उत्तर पुस्तिका में 15 सवालों के उत्तर में टेंपरिंग मिली। विभाग के असिस्टेंट डायरेक्टर आरएस सैनी ने मामले में जांच की। जांच के दौरान आइटीआइ प्रबंधन की लापरवाही सामने आई। इसमें सुपरिंटेंडेंट, एग्जामिनर व असिस्टेंट समेत अन्य कर्मचारियों की लापरवाही सामने आई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here