हरियाणा पर्यावरण संरक्षण फाउंडेशन की ओर से बैठक आयोजित

0
38

Faridabad/Alive News: मानव रचना शैक्षणिक संस्थान और दीन दयाल उपाध्याय अनुसंधान संस्थान, नई दिल्ली ने पर्यावरण की रक्षा के विशेष उपायों के लिए हरियाणा राज्य में एनजीटी के जनादेश को लागू करने के लिए हरियाणा पर्यावरण संरक्षण फाउंडेशन (HEPF) का संयुक्त रूप से गठन किया है। इस फाउंडेशन का उद्देश्य राज्य स्तर पर पर्यावरण के संरक्षण के लिए समयबद्ध पहल करना और प्रत्येक जिला स्तर पर क्षेत्रीय चैप्टर्स को प्रभावी ढंग से चलाने की पहल करना है। पायलट प्रोजेक्ट शुरू करने के लिए फरीदाबाद को मॉडल डिस्ट्रिक्ट के रूप में चुना गया है।

इस बैठक में पर्यावरणविद्, विचारक नेता, व्यवसाय के मालिक, गैर सरकारी संगठन और आरडब्ल्यूए के प्रतिनिधि शामिल रहे। इस दौरान फरीदाबाद पर्यावरण संरक्षण अध्याय (FEPC) भी स्थापित किया। इस दौरान पर्यावरण को बचाने के लिए कई सुझाव दिए गए।

कार्यक्रम में मौजूद रहे फरीदाबाद म्यूनिसिपल कार्पोरेशन के एडिश्नल कमिश्नर विक्रम यादव ने सभी विचारों का स्वागत किया। उन्होंने कहा, फरीदाबाद में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट सबसे बड़ी समस्या है, जिसपर प्रशासन कार्य कर रहा है। लेकिन इस कार्य को सफल बनाने के लिए उन्हें आम लोगों का भी साथ चाहिए।

इस दौरान, बडखल झील का पुनरुद्धार और इसका वर्तमान परिदृश्य, हरित प्रौद्योगिकी का समर्थन करने वाले उद्योगों के लिए विशेष बैंक ऋण नीतियां, युवाओं को ईको-सेंसिटिव सिटीजन बनने के लिए प्रेरित करने के लिए संवेदीकरण कार्यक्रम, शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए कार्यक्रम, फरीदाबाद की सफाई और हरियाली में लोगों को शामिल करना, तालाबों, झीलों जैसे जल निकायों का मानचित्रण और उनके पुनरुद्धार और पुनरुद्धार के लिए रोड मैप पर चर्चा की गई।

कार्यक्रम में गोपाल आर्य, पर्यावरण संरक्षण के राष्ट्रीय समन्वयक, दीन दयाल उपाध्याय अनुसंधान संस्थान और HEPF के संरक्षक, डॉ. कृष्ण कुमार, जिला संयोजक, आरएसएस, सुमित, ओएसडी टू सीएम, गंगा शंकर मिश्र, राज कुमार अग्रवाल; राजीव चावला; डॉ. अरविंद सूद, पुष्पेंद्र चौहान; अमिताभ वशिष्ठ, डॉ. प्रशांत भल्ला, डॉ. अमित भल्ला, डॉ. एनसी वाधवा, डॉ. एमएम कथूरिया समेत कई गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Print Friendly, PDF & Email