मंत्रालय पहुंची नीट पीजी में धांधली की शिकायत

0
11

New Delhi/Alive News : एम्स के रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन (आरडीए) ने मेडिकल स्नातकोत्तर में दाखिले के लिए हुई नीट (राष्ट्रीय पात्रता व प्रवेश परीक्षा) परीक्षा के परिणाम पर संदेह जाहिर करते हुए धांधली का आरोप लगाया है। एसोसिएशन ने इस मामले में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि आवेदकों को बेहतर रैंक दिलाने के लिए पैसों की मांग की जा रही है।

आरडीए ने नेशलन बोर्ड ऑफ इक्जामिनेशन (एनबीई) पर गंभीर आरोप लगाते हुए मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की है। एसोसिएशन का कहना है कि सात जनवरी को नीट की परीक्षा हुई थी। 23 जनवरी को परीक्षा परिणाम घोषित किया गया। पहली बार परीक्षा परिणाम में छात्रों की मेरिट लिस्ट (रैंकिंग) जारी न कर सिर्फ अंक बताए गए।

एनबीई ने अब तक मेरिट लिस्ट जारी नहीं की है। छात्रों को मैसेज व कॉल कर पांच लाख रुपये की मांग की जा रही है। हैरानी की बात यह है कि कॉल करने वालों के पास छात्रों के मोबाइल नंबर के अलावा पता, आधार नंबर सहित तमाम जानकारियां उपलब्ध हैं। वे छात्रों को एक हजार के अंदर रैंक दिलाने का लालच दे रहे हैं।

आरडीए ने अपने पत्र में दावा किया है कि उसके पास छात्रों को भेजे गए मैसेज व ऑडियो रिकार्डिग मौजूद हैं। आरडीए के अध्यक्ष डॉ. हरजीत भाटी ने कहा कि मंत्रालय को मामले की जांच करानी चाहिए कि छात्रों की व्यक्तिगत जानकारी बाहर कैसे पहुंची। शैक्षणिक सूचना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here