एक अप्रैल से 30 सितंबर तक 78 हजार यूनिट से अधिक रक्तदान, जिले में 756 यूनिट प्लाज्मा कलेक्ट

0
12
blood donation
Sponsored Advertisement

Chandigarh/Alive News: प्रदेश में काेरोना के केस 1.47 लाख से अधिक हो चुके हैं। इनमें से बड़ी संख्या में रोगी स्वस्थ हो गए हैं। विभाग लगातार कोरोना को हराने वालों का आह्वान कर रहा है कि वे प्लाज्मा दान करें, ताकि दूसरे रोगियों की जान बचाई जा सके। समूचे प्रदेश में 12 अक्टूबर तक 2561 लोगों ने पहले कोरोना को हराया है। फिर प्लाज्मा डोनेट किया। 12 अक्टूबर तक 2347 प्लाज्मा यूनिट इश्यू की जा चुकी हैं। 1718 रोगियों को ट्रीटमेंट दिया है। वहीं रक्तदान करने वाले भी कम नहीं हैं। एक अप्रैल से 30 सितंबर तक प्रदेश में करीब 78 हजार यूनिट रक्तदान हुआ है।

कोरोना से जीतकर कहां किया प्लाज्मा दान
फरीदाबाद के चार ब्लड सेंटरों में 756 यूनिट प्लाज्मा कलेक्ट हुआ है, इसमें से 717 यूनिट प्लाज्मा इश्यू किया जा चुका है, 619 रोगियों का उपचार किया गया है। गुड़गांव के सात ब्लड बैंकों में 1582 यूनिट प्लाज्मा कलेक्ट हुआ है, इसमें से 979 यूनिट प्लाज्मा से रोगियों का उपचार हुआ है। जबकि करनाल में 60 यूनिट, पानीपत में 64 यूनिट, पंचकूला में 71 यूनिट, रेवाड़ी में 28 यूनिट प्लाज्मा कलेक्ट हुआ है। इन चारों जिलों में 120 रोगियों का इलाज किया गया है। राज्य औषधि नियंत्रक नरेंद्र आहुजा के अनुसार प्लाज्मा थैरेपी से काफी अच्छी रिकवरी हो रही है।

छह महीने में 78 हजार यूनिट रक्तदान
प्रदेश में एक अप्रैल से 30 सितंबर तक रक्तदाताओं ने खुलकर रक्तदान किया है। करीब 78 हजार यूनिट रक्तदान सरकारी ब्लड बैंकों में हुआ है। एक अप्रैल से 31 अगस्त तक 65899 यूनिट रक्तदान हुआ है। यानी हर माह करीब 11 हजार यूनिट से अधिक रक्तदान प्रदेश के लोगों ने किया है। जबकि सितंबर में करीब 12 हजार यूनिट रक्तदान हुआ है।

सितंबर में 199 कैंप से 12 हजार यूनिट रक्तदान
रेड क्राॅस के स्टेट सेक्रेटरी डीआर शर्मा ने बताया कि एक अप्रैल से 30 सितंबर तक प्रदेश के सरकारी ब्लड बैंकों में करीब 78 हजार यूनिट रक्तदान हुआ है। सितंबर में 199 कैंप लगाए गए, इनमें 12780 यूनिट रक्तदान हुआ है। जबकि 15 अक्टूबर तक भी कई कैंपों का आयोजन किया जा चुका है।

प्लाजमा दान करने वाले बढ़े
प्रदेश में कोरोना को हराने वालों को मोटीवेट किया जा रहा है, अब तक ढाई हजार से अधिक ने प्लाज्मा डोनेट किया है। यह संख्या बढ़ रही है। प्रदेश में रक्तदान करने वाले भी तेजी से आगे आए हैं।-अनिल विज, स्वास्थ्य मंत्री, हरियाणा।

Print Friendly, PDF & Email