घटस्थापना के साथ ही सिद्धदाता आश्रम में नवरात्र प्रारंभ, जगदगुरु स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने किया पूजन

0
14
Sponsored Advertisement

Faridabad/Alive News: शारदीय नवरात्र में माता का पूजन सभी गुणों को प्रदान करने वाला है। सभी लोगों को इन नवरात्र में माता के नाम का गुणानुवाद अवश्य ही करना चाहिए। यह बात श्री सिद्धदाता आश्रम के अधिपति जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने कही। वह आश्रम में घटस्थापना के बाद भक्तों को प्रवचन कह रहे थे। यहां पर नौ दिन रहकर भक्त मां के नाम का गुणानुवाद करेंगे।

आचार्यश्री ने कहा कि साल में चार बार माता के नवरात्र आते हैं। इनमें से एक चैत्र और दूसरा शारदीय नवरात्र प्रमुख रूप से सभी द्वारा मनाए जाते हैं। इन नवरात्र में माता के नाम का गुणानुवाद करने वाले सभी सुखों से परिपूर्ण रहते हैं। उन्होंने कहा कि इन दिनों किए गए अनुष्ठान का विशेष महत्व है। स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य ने कहा कि मां आदि शक्ति हैं, वह परमेश्वर की भी शक्ति हैं और जीव की भी शक्ति हैं। इसलिए मां की कृपाओं को पाने के लिए उनके मंत्रों का अनुष्ठान करना ही चाहिए।

इससे पहले उन्होंने आश्रम के सत्संग भवन में नवरात्र अनुष्ठान के लिए घट स्थापना की। यहां पर नौ दिन तक भक्त रहकर मंत्रजाप करेंगे। हालांकि इन भक्तों को सोशल डिस्टेंसिंग, सेनिटाइजेशन के साथ कोविड निगेटिव प्रमाणपत्र के बाद ही यहां पर अनुमति दी गई है।

Print Friendly, PDF & Email